छात्राएं बोलीं- मनचले कसते हैं फब्तियां, पुलिस से नहीं मिलती सहायता

रॉकी मित्तल ने समस्याएं पूछनी शुरू की तो छात्राओं ने भी अपनी परेशानियों की एक लंबी सूची उनके सामने रख दी. कुल मिलाकर रॉकी मित्तल के इस निरीक्षण ने राजकीय स्कूल की व्यवस्थाओं की पोल खोलकर रख दी.

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: December 14, 2018, 2:51 PM IST
छात्राएं बोलीं- मनचले कसते हैं फब्तियां, पुलिस से नहीं मिलती सहायता
रॉकी मित्तल को समस्याएं सुनाती छात्राएं
Pardeep Sahu
Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: December 14, 2018, 2:51 PM IST
सर, स्कूल आते और यहां से जाते समय मनचले रास्ते भर फब्तियां कसते हैं. पढ़ने आने के लिए न जाने कैसी-कैसी बातें सुननी पड़ रही हैं. आपकी सुरक्षा व्यवस्था पूरी तरह से फेल है और दुर्गा शक्ति टीम तो कहीं दिखाई ही नहीं देती. इतना ही नहीं बल्कि 1091 पर फोन करते हैं तो भिवानी मिलता है, 100 नंबर पर काल करते हैं तो कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिलता. ‘एक और सुधार’ कार्यक्रम के प्रोजेक्ट डायरेक्टर रॉकी मित्तल शुक्रवार को जब दादरी के राजकीय कन्या स्कूल में पहुंचे तो यहां पढऩे वाली छात्रओं ने उन्हें कुछ इस तरह अपनी आपबीती बताई.

रॉकी मित्तल ने समस्याएं पूछनी शुरू की तो छात्राओं ने भी अपनी परेशानियों की एक लंबी सूची उनके सामने रख दी. कुल मिलाकर रॉकी मित्तल के इस निरीक्षण ने राजकीय स्कूल की व्यवस्थाओं की पोल खोलकर रख दी.

दुष्कर्म पीड़ित नाबालिग ने बच्ची को दिया जन्म, पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार

रॉकी मित्तल के समक्ष छात्राओं ने अपनी सुरक्षा का मुद्दा रखा तथा बताया कि उन्हें दुर्गा शक्ति की टीम न तो स्कूल के बाहर मिलती है और न ही रास्ते में. पुलिस का भय नहीं होने के कारण रोजाना उन्हें स्कूल आते और जाते समय मनचलों की भद्दी बातें सुननी पड़ती है. बेटियों की बातों को सुनकर प्रोजेक्ट डॉयरेक्टर रॉकी मित्तल ने उनके सामने ही महिला हेल्पलाइन 1091 पर फोन लगाया, लेकिन कोई रिस्पांस ही नहीं मिला. इसके बाद उन्होंने दुर्गा शक्ति पर कॉल की. दुर्गा शक्ति पर कॉल करने के 15 मिनट के बाद भी दुर्गा शक्ति स्कूल नहीं पहुंची तो सिटी पुलिस थाना प्रभारी दलबीर सिंह को मौके पर बुलाकर जवाब मांगा.

एक बार खराब होने के बाद ट्रैफिक लाइट ठीक कराना भूल गया प्रशासन

काफी देर बाद दुर्गा शक्ति की टीम स्कूल में पहुंची तो रॉकी मित्तल ने टीम के सदस्यों से जब सवाल पूछे तो दुर्गा शक्ति टीम के पास कोई जवाब ही नहीं था. रॉकी मित्तल ने पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को काफी खरी-खरी सुनाई और निर्देश जारी किए कि एक सप्ताह में समाधान नहीं हुआ तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी. साथ ही उन्होंने पुलिस प्रशासन को तुरंत एक्शन लेने के लिए आदेश दिए.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चरखी दादरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 14, 2018, 2:48 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...