गुरु पूर्णिमा पर्व: बेटियों का बाप नहीं गुरु बनकर सिखाए पहलवानी के गुर: महाबीर फोगाट

गुरु द्रोणाचार्य अवार्डी महाबीर पहलवान हैं, जिनके मार्गदर्शन से बेटियों का जीवन बदल गया है. बेटियों के लिए गुरु महाबीर पहलवान ने खुद संघर्ष किया और इनकी जिंदगी बदल दी.

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: July 17, 2019, 12:10 PM IST
गुरु पूर्णिमा पर्व: बेटियों का बाप नहीं गुरु बनकर सिखाए पहलवानी के गुर: महाबीर फोगाट
महाबीर फोगाट ने गुरु पूर्णिमा पर ​शिष्यों को दी शुभकामनाएं
Pardeep Sahu
Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: July 17, 2019, 12:10 PM IST
भारतीय संस्कृति में गुरु पूर्णिमा पर्व का अलग ही महत्व है. यह दिन उन व्यक्तियों के प्रति श्रद्धा और सम्मान का प्रतीक है. हमारे जीवन में गुरु का विशेष महत्व होता है. गुरु के मार्गदर्शन से हमारा पूरा जीवन ही बदल जाता है. ऐसे ही गुरु द्रोणाचार्य अवार्डी महाबीर पहलवान हैं, जिनके मार्गदर्शन से बेटियों का जीवन बदल गया है. बेटियों के लिए गुरु महाबीर पहलवान ने खुद संघर्ष किया और इनकी जिंदगी बदल दी. अब ये अपने गुरु महाबीर पहलवान से प्रेरणा लेकर चरखी दादरी के कस्बा झोझू कलां में कुश्ती अकादमी में बच्चों को कुश्ती के गुर सिखा रहे हैं.

गीता, बबीता, विनेश और रीतू ने बनाई अपनी पहचान

महाबीर फोगाट-Mahavir Phogat
प्रतीकात्मक फोटो: दंगल फिल्म द्रोणााचार्य अवार्डी महाबीर फोगाट पहलवान और उनकी बेटियों पर बनी है.


बेटियां गीता, बबीता, विनेश व रीतू के कुश्ती में विश्व स्तर पर परचम लहराने पर क्षेत्र ही नहीं, बल्कि देेशभर की बेटियों ने दंगल में उतरते हुए अपनी विशेष पहचान बनाई है. गुरु महाबीर पहलवान अब छोटे बच्चों को अपनी अकेडमी में कुश्ती के गुर सिखा रहे हैं और भविष्य में देश के लिए पहलवान तैयार कर रहे हैं.

गुरु को मिठाई खिलाकर शिष्यों ने लिया आशीर्वाद

गुरु पूर्णिमा के अवसर पर महाबीर पहलवान की अकेडमी में सम्मान कार्यक्रम किया गया। इस दौरान कुश्ती के गुर सिख रहे बच्चों ने अपने गुरु को मिठाइंया खिलाकर आशीर्वाद लिया. कुश्ती के गुर सीख रहे बच्चों ने कहा कि गुरु के बिना हम आगे नहीं बढ़ सकते हैं. गीता, बबीता, विनेश व अन्य बेटियों ने गुरु महावीर की मेहनत से आज विश्व स्तर पर अपनी पहचान कायम की है. ऐसे में वे प्रेरणा लेकर गुरु के सहयोग से आगे बढ़ते हुए देश का नाम रोशन करना चाहते हैं.

महाबीर फोगाट ने दी शिष्यों को शुभकामनाएं
Loading...

वहीं पहलवान महाबीर फौगाट ने गुरू पूर्णिमा का शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मैंने कभी भी अपनी बेटियों को बाप बनकर शिक्षा नही दी बल्कि हमेशा गुरु बनकर उनको पहलवानी में गुर सिखाए हैं. उनके दिखाए मार्ग पर चलते हुए आज बेटियां देश ही नहीं बल्कि विदेशों में नाम रोशन कर रही हैं.

दंगल फिल्म में दिखाई गई गुरु की महत्ता

महाबीर ने कहा कि गुरु को लेकर उनके व बेटियों के नाम पर दंगल फिल्म बनी है, जिसमें गुरु के महत्व के बारे में बताया गया है कि कैसे एक पिता ने गुरु बनकर बेटियों को कुश्ती के गुर सिखाकर उंचाइयों पर पहुंचाया. आज उन बच्चों को प्रेरणा है कि वे अपने गुरु के बताए मार्ग पर चलते हुए देश-विदेश में नाम रोशन करें.

यह भी पढ़ें: 30 हजार रुपए में भ्रूण लिंग जांच करने वाले 2 दलाल गिरफ्तार, आरोपी डॉक्टर फरार

स्पा सेंटर की आड़ में चल रहा था सेक्स रैकेट, 6 युवतियों सहित 14 लोग गिरफ्तार
First published: July 17, 2019, 12:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...