कर्मचारी महासंघ ने 21 अगस्त को हरियाणा बंद का किया ऐलान

महासंघ की अनेक मांगों में से मुख्य मांग प्रदेश के कर्मचारियों को समान काम समान वेतनमान देना मेडिकल कैशलेस पॉलिसी, जोखिम भत्ता, पुरानी पेंशन पॉलिसी को लागू करना, कर्मचारियों को स्थायी करना, आंगनबाड़ी व आशा वर्करों की स्थाई भर्ती कर नियुक्ती की जाए, परिवहन विभाग के बेड़े में बसों के संख्या बढ़ाया जाना, सातवें वेतन आयोग का लाभ देने की मांगे शामिल है.

News18 Haryana
Updated: August 12, 2018, 9:46 AM IST
कर्मचारी महासंघ ने 21 अगस्त को हरियाणा बंद का किया ऐलान
चरखी दादरी में कर्मचारी महासंघ की हुई बैठक
News18 Haryana
Updated: August 12, 2018, 9:46 AM IST
कर्मचारियों के प्रति हरियाणा सरकार की वादाखिलाफी के विरोध में कर्मचारी 21 अगस्त को एक बार फिर हड़ताल पर जाएंगे. हरियाणा कर्मचारी महासंघ ने 21 अगस्त को हरिणाया बंद का ऐलान कर दिया है, साथ ही अल्टीमेटर दिया है कि अगर सरकार ने उनकी मांगों को पूरा नहीं किया तो उनकी हड़ताल अनिश्चितकालीन हो सकती है. कर्मचारी महासंघ की शनिवार को हुई कार्यकारिणी की बैठक में यह निर्णय लिया गया.

हरियाणा कर्मचारी महासंघ की कार्यकारिणी कमेटी की मीटिंग प्रदेश महासचिव विरेंद्र सिंह धनखड़ व संजीव मंदोला की संयुक्त अध्यक्षता में हुई बैठक में कर्मचारियों की मांगों को लेकर सरकार द्वारा हर बार समझौता कर मुकरने के विरोधर में काम छोड़कर हरियाणा बंद करने का फैसला लिया गया. कर्मचारी नेताओं का कहना है कि प्रदेश के लाखों कर्मचारियों की मांगों को सरकार सिर्फ टरकाने का काम करती आई है और गोलमोल बातों से कर्मचारियों को बरगलाने के लिए झूठे आश्वासन ही दे रही है.

सरकार से रवैये के चलते प्रदेश के कर्मचारी वर्ग में खासा रोष है और सरकार के खिलाफ एक निर्णायक आंदोलन करने के लिए मजबूर है. कर्मचारियों का कहना है कि सरकार का झूठा आश्वासन नहीं बल्कि प्रदेश के कर्मचारियों को उनका हक चाहिए. उन्होंने कहा कि मांगे पूरी नहीं होने पर यह हड़ताल एक दिन की नहीं रहकर अनिश्चितकालीन में तब्दील हो सकती है.

महासंघ की अनेक मांगों में से मुख्य मांग प्रदेश के कर्मचारियों को समान काम समान वेतनमान देना मेडिकल कैशलेस पॉलिसी, जोखिम भत्ता, पुरानी पेंशन पॉलिसी को लागू करना, कर्मचारियों को स्थायी करना, आंगनबाड़ी व आशा वर्करों की स्थाई भर्ती कर नियुक्ती की जाए, परिवहन विभाग के बेड़े में बसों के संख्या बढ़ाया जाना, सातवें वेतन आयोग का लाभ देने की मांगे शामिल है.

इन विभागों के कर्मचारी हड़ताल में होंगे शामिल

इस राज्यव्यापी हड़ताल में निगमों, ब्लॉकों, बोर्डों के साथ आबकारी व कराधान विभाग, तहसील, नगर निकाय, निगम व नगर पालिका, बिजली विभाग, जनस्वास्थ्य विभाग, हरियाणा रोडवेज, शिक्षा, बिजली, पानी, आदि कई विभाग पूर्णरूप से हड़ताल पर रहेंगे.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर