हरियाणा: फिर से हड़ताल पर जा सकते हैं रोडवेज कर्मचारी

रोडवेज बेड़े में निजी बसों को किलोमीटर स्कीम के तहत उतारने के मामले में करोड़ों रुपए के घोटाले का मामला सामने आने पर रोडवेज तालमेल कमेटी ने सीबीआई जांच की मांग की है.

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: July 27, 2019, 9:05 AM IST
हरियाणा: फिर से हड़ताल पर जा सकते हैं रोडवेज कर्मचारी
रोडवेज कर्मचारियों की सरकार से है ये मांग
Pardeep Sahu
Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: July 27, 2019, 9:05 AM IST
हरियाणा रोडवेज के कर्मचारी एक बार फिर से हड़ताल पर जा सकते हैं. रोडवेज बेड़े में निजी बसों को किलोमीटर स्कीम के तहत उतारने के मामले में करोड़ों रुपए के घोटाले का मामला सामने आने पर रोडवेज तालमेल कमेटी ने सीबीआई जांच की मांग की है. ऐसा नहीं होने पर आगामी दिनों में कमेटी की कार्यकारिणी की मीटिंग बुलाकर बड़े आंदोलन की घोषणा की जाएगी, जिसमें हड़ताल करने का निर्णय शामिल होगा.

बता दें कि चरखी दादरी के रोडवेज प्रशिक्षण स्कूल में रोडवेज तालमेज कमेटी द्वारा नागरिक सम्मेलन का आयोजन किया गया इस दौरान रोडवेज सहित विभिन्न विभागों के कर्मचारी संगठनों ने भागेदारी की. सम्मेलन में तालमेल कमेटी व अन्य कर्मचारी संगठनों ने निर्णय लिया कि किलोमीटर स्कीम के तहत निजी बसों को उतारने की पॉलिसी में स्टेट विजीलेंस की जांच के दौरान करोड़ों रुपए का घोटाला सामने आया है. ऐसे में सरकार निचले स्तर के अधिकारियों को फंसाकर आला अधिकारियों व नेताओं को बचाने का प्रयास कर रही है. ऐसे में पूरे मामले की सीबीआई से जांच हो और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई हो. अगर ऐसा नहीं होता है तो आने वाले समय में रोडवेज के कर्मचारी फिर से हड़ताल पर जा सकते हैं. रोडवेज की हड़ताल में जहां विभिन्न विभागों के कर्मचारी शामिल होंगे वहीं ग्राम पंचायतों का भी समर्थन लिया जाएगा.

रोडवेज कर्मचारियों की ये मांग

सम्मेलन के दौरान रोडवेज तालमेल कमेटी के वरिष्ठ सदस्य व रोडवेज महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष विरेंद्र सिंह धनखड़ ने कहा कि रोडवेज बेड़े में 510 व 190 निजी बसों का अनुबंध मामले में 15 रुपए प्रति किलोमीटर की हेराफेरी सामने आई है. इसमें सरकार ने लीपापोती करते हुए नीचले स्तर के अधिकारियों को फंसा दिया और बड़े अधिकारियों को बचाया जा रहा है. रोडवेज कर्मचारियों की मांग है कि निजी बसों की पॉलिसी को रद्द करके सीबीआई जांच करवाते हुए ठोस व कड़ी कार्रवाई की जाए. ऐसा नहीं किया तो रोडवेज के कर्मचारी निर्णायक आंदोलन करेंगे. क्योंकि सरकार ने निजी बसों को लेकर हड़ताल करने वाले रोडवेज कर्मचारियों को प्रताडि़त किया था. साथ ही कर्मचारियों पर मुकद्दमे दर्ज करवाए गए.

20 अगस्त को करेंगे प्रदर्शन

इस पूरे प्रकरण को लेकर रोडवेज तालमेल कमेटी 20 अगस्त को प्रदर्शन करते हुए राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपेंगी. अगर सरकार ने फिर भी संज्ञान नहीं लिया तो कर्मचारी फिर से हड़ताल पर जाने को तैयार हैं. इस दौरान विभिन्न कर्मचारी संगठनों ने रोडवेज की मांगों का समर्थन करते हुए उनके हर संघर्ष में साथ देने का संकल्प लिया.

ये भी पढे़ं- बिजली चोरी करते पकड़ाया कांग्रेस IT सेल का जिलाध्यक्ष, 20 हजार का जुर्माना
Loading...

ये भी पढ़ें - S.P ऑफिस के बाहर शख्स ने की सुसाइड अटेम्प्ट, काटी नसें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चरखी दादरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 27, 2019, 9:05 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...