लाइव टीवी

हरियाणा रोडवेज की हड़ताल को खापों और छात्र संगठनों का मिला समर्थन
Charkhi-Dadri News in Hindi

News18 Haryana
Updated: October 21, 2018, 8:09 AM IST
हरियाणा रोडवेज की हड़ताल को खापों और छात्र संगठनों का मिला समर्थन
हरियाणा रोडवेज की हड़ताल को खापों और छात्र संगठनों का मिला समर्थन

हरियाणा रोडवेज की हड़ताल के 5वें दिन जहां विभाग द्वारा किराए पर निजी बसों और ड्राइवरों को रोड पर उतारा गया, वहीं हड़ताली कर्मचारियों को अब अन्य विभागों के साथ-साथ छात्र संगठन, खापों और सामाजिक संगठनों ने भी अपना समर्थन दे दिया है.

  • Share this:
हरियाणा के चरखी दादरी जिले में हरियाणा रोडवेज की हड़ताल के 5वें दिन जहां विभाग द्वारा किराए पर निजी बसों और ड्राइवरों को रोड पर उतारा गया, वहीं हड़ताली कर्मचारियों को अब अन्य विभागों के साथ-साथ छात्र संगठन, खापों और सामाजिक संगठनों ने भी अपना समर्थन दे दिया है. वहीं बसों के संचालन को लेकर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे. बीते शनिवार को डिपो अधिकारियों द्वारा सुबह से ही बसों का संचालन करवाया गया. इस दौरान विभागीय अधिकारियों ने 12 कर्मचारियों को नोटिस भी जारी किया है. वहीं कर्मचारियों के बीच पहुंचे रोडवेज के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष बलदेव घणघस ने प्रदेश सरकार पर किलोमीटर की आड़ में बसें चलाने पर बड़े घोटाले का आरोप लगाते हुए जांच की मांग की है.

चरखी दादरी के रोज गार्डन में बीते शनिवार को रोडवेज के हड़ताली कर्मचारियों द्वारा धरना दिया गया और अपनी मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन किया. प्रदर्शन के दौरान श्योराण खाप प्रधान बिजेंद्र बेरला, पूर्व विधायक धर्मपाल सांगवान, सामाजिक संगठन नेता मा. सत्यवान शास्त्री, एसकेएस नेता राजकुमार घिकाड़ा, प्रधान अजीत फौगाट और सीटू नेता रणधीर कुगंड समेत कॉलेज छात्र संगठनों के नेता और पूर्व छात्रों ने हड़ताली कर्मचारियों को अपना समर्थन दिया.

बलदेव घणघस ने प्रदेश सरकार पर कर्मचारियों के आंदोलन को कुचलने का आरोप लगाया है. पूर्व प्रदेश प्रधान बलदेव घणघस ने कहा कि मुख्यमंत्री और कैबिनेट ही हड़ताल का समाधान कर सकते हैं. अधिकारियों की वार्ता से रोडवेज कर्मचारियों की मांगों का समाधान नहीं हो सकता. उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार हड़ताल के दौरान निजी बसों को 30 रुपए प्रति किलोमीटर दे रही है जबकि 720 बसों को 36 रुपए देने को कहती है. दरअसल, सरकार रोडवेज के बेड़े में गुजरात और दिल्ली के लोगों की बसों को शामिल कर बड़ा घोटाला करने की फिराक में है.

ऐसे में सरकार के इस घोटाले की बड़े स्तर पर जांच कराने की मांग की है. ताकि सरकार की पोल जनता के सामने आ सके. साथ ही हड़ताली कर्मचारियों की मांग हैं कि निलम्बित और बर्खास्त किए गए कर्मचारियों की जल्द से जल्द बहाली की जाए.



ये भी पढ़ें:- रोडवेज हड़ताल 22 अक्तूबर तक बढ़ी, इनेलो, कांग्रेस व खापों का मिला समर्थन

अमृतसर ट्रेन हादसे का नया वीडियो आया सामने, लोगों को रौंदती चली गई ट्रेन

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चरखी दादरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 21, 2018, 8:09 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर