दूसरे दिन भी रोडवेज कर्मियों ने भूख हड़ताल कर मांगा हक

कर्मचारी नेताओं ने कहा सरकार बिना देरी किए नौकरी से हटाए गए सभी चालकों को तुरन्त ड्यूटी पर ले, अन्यथा सरकार को खामियाजा भुगतना पड़ेगा.

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: December 14, 2018, 4:51 PM IST
दूसरे दिन भी रोडवेज कर्मियों ने भूख हड़ताल कर मांगा हक
हरियाणा रोडवेज
Pardeep Sahu
Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: December 14, 2018, 4:51 PM IST
रोडवेज कर्मचारियों ने तालमेल कमेटी के आह्वान पर अपनी विभिन्न मांगों को लेकर दूसरे दिन भी भूख हड़ताल कर हक मांगा. साथ ही सरकार व विभाग के खिलाफ वादखिलाफी का आरोप लगाते हुए अपनी मांगों को लेकर आर-पार की लड़ाई लडऩे का ऐलान किया.

इस दौरान दूसरे विभागों के कर्मचारियों ने भी हड़ताल का समर्थन देते हुए हर लड़ाई में साथ देने का ऐलान किया. बाद में तालमेल कमेटी के निर्देश पर भूख हड़ताल पर बैठे कर्मचारियों को जूस पिलाकर अनशन समाप्त करवाया गया.

मांगों को लेकर फिर भड़के रोडवेजकर्मी, भूख हड़ताल शुरू

बता दें किहरियाणा रोडवेज कर्मचारी तालमेल कमेटी के आह्वान पर वरिष्ठ नेता रणबीर गहलौत, भरपुर मिर्च, संतोष बूरा, राजेश रावलधी व भूप सिंह धनासरी के संयुक्त नेतृत्व में दादरी बस स्टैंड पर दो दिवसीय भूख हड़ताल पर रोष प्रदर्शन किया गया. कर्मचारी नेताओं ने कहा कि सरकार ने 365 चालकों को नौकरी से बहार का रास्ता दिखाकर कर्मचारी विरोधी चरित्र पेश किया है. सरकार ने बदले की भावना से चालकों को नौकरी से निकाल कर उनके मुंह का निवाला छीना है, जिस कारण कर्मचारियों में भारी रोष है.

फेसबुक फ्रेंड ने शादी से इनकार किया तो युवक ने जहर खाकर दे दी जान

कर्मचारी नेताओं ने कहा सरकार बिना देरी किए नौकरी से हटाए गए सभी चालकों को तुरन्त ड्यूटी पर ले, अन्यथा सरकार को खामियाजा भुगतना पड़ेगा. कर्मचारियों ने कहा कि 700 प्राइवेट बसें ठेके पर लेने के खिलाफ, ग्रामीण क्षेत्रों में बसों का रात्रि ठहराव बंद करने, 365 चालकों को नौकरी से हटाने के विरोध में व विभाग में 14 हजार सरकारी बसें शामिल करने, 15 हजार स्थाई कर्मचारियों की भर्ती करने की मांग को लेकर करनाल में राज्य स्तरीय कन्वैंशन की जाएगी, जिसमें आगामी निर्णायक आन्दोलन की घोषणा की जाएगी.
First published: December 14, 2018, 4:39 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...