Home /News /haryana /

किसानों पर आंच आएगी तो राज्यपाल क्या? कोई भी बड़ा पद छोड़ दूंगा: सत्यपाल मलिक

किसानों पर आंच आएगी तो राज्यपाल क्या? कोई भी बड़ा पद छोड़ दूंगा: सत्यपाल मलिक

मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने एक बार फिर से किसानों के पक्ष में बयान दिया है.

मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने एक बार फिर से किसानों के पक्ष में बयान दिया है.

Kisan Andolan: मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि कृषि कानून (Agriculture Law) रद्द होना किसानों की बड़ी जीत है. MSP को लेकर भी किसान एकजुट रहेंगे. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पहले ही अगाह कर दिया था, जब उनकी समझ में आया तो किसान आंदोलन (Kisan Andolan) समाप्त हुआ है. किसानों के साथ सरकार को ईमानदारी बरतते हुए केस रद्द करते हुए MSP को कानूनी रूप देना चाहिए. राज्यपाल ने कहा कि खाप पंचायतों द्वारा लिए जाने वाले फैसलों से समाज में एकता बनेगी. मलिक ने तलाना टोल महापंचायत को लेकर कहा कि राजनीति षडय़ंत्र के चलते उन्होंने महापंचायत में हिस्सा नहीं लिया.

अधिक पढ़ें ...

    प्रदीप साहू

    चरखी दादरी. मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Satyapal Malik ) एक बार फिर सुर्खियों में हैं. वह फिर से किसानों के पक्ष (Stand For Farmers) में खड़े दिखाई दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि “किसानों पर अगर कोई आंच आएगी तो वे राज्यपाल (Governor) तो क्या? कोई भी बड़ा पद होगा, उसे तुरंत छोड़ देंगे. किसानों व समाज के लिए हमेशा तत्पर रहा हूं और हमेशा सबसे आगे खड़ा मिलूंगा. किसानों के साथ सरकार को अब ईमानदारी बरतते हुए तुरंत दर्ज केसों को रद्द करके MSP को कानूनी रूप देना होगा.”

    वहीं, राज्यपाल मलिक ने डाडम पहाड़ हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग भी उठाई है. राज्यपाल सत्यपाल मलिक रविवार को दादरी के रेस्ट हाऊस में पहुंचे, जहां पुलिस गार्ड द्वारा उन्हें स्लामी दी गई. इस दौरान उन्होंने लोगों से बातचीत भी की. बाद में फौगाट खाप के स्वामी दयाल धाम पर पहुंचकर माथा टेका. यहां फौगाट खाप ने राज्यपाल के सम्मान में समारोह का आयोजन कर खाप प्रधान बलवंत फौगाट ने उन्हें सम्मानित किया.

    दादरी मेरा ननिहाल, इसलिए ज्यादा जुड़ाव
    समारोह में राज्यपाल मलिक ने कहा कि “उनकी मां दादरी से थी, इसी कारण उनका लगाव ननिहाल से है और यहां के लोगों की एकता मिसाल बनी हुई है. मलिक ने कहा कि समाज को एकजुट रहते हुए अपने हितों के लिए संघर्ष करना चाहिए.” राज्यपाल ने इस दौरान कहा कि किसान आंदोलन समाप्त नहीं हुआ बल्कि स्थगित हुआ है, अगर किसानों की मांगे नहीं मानी गई तो फिर से आंदोलन हो सकता है.

    मैंने पीएम को पहले ही आगाह किया था: सत्यपाल मलिक
    राज्यपाल ने कहा, “कृषि कानून रद्द होना किसानों की बड़ी जीत है, एमएसपी को लेकर भी किसान एकजुट रहेंगे. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को पहले ही अगाह कर दिया था, जब उनकी समझ में आया तो किसान आंदोलन समाप्त हुआ है. किसानों के साथ सरकार को ईमानदारी बरतते हुए केस रद्द करते हुए MSP को कानूनी रूप देना चाहिए.”

    इस पंचायत में राजनीति हो रही है इसलिए दूर हूं
    राज्यपाल ने कहा कि खाप पंचायतों द्वारा लिए जाने वाले फैसलों से समाज में एकता बनेगी. मलिक ने कि तलाना टोल महापंचायत को लेकर कहा कि राजनीति षडय़ंत्र के चलते उन्होंने महापंचायत में हिस्सा नहीं लिया. क्योंकि महापंचायत का मामला राष्ट्रपति भवन तक पहुंचा है. इस पंचायत में राजनीति हो रही है इसलिए दूर हूं.

    Tags: Farmers movement, Farmers Protest, Haryana news, Kisan Andolan, Satyapal malik

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर