लाइव टीवी

VIDEO: यहां गंदे पानी में से होकर स्कूल जाने को मजबूर हैं नौनिहाल
Charkhi-Dadri News in Hindi

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: July 3, 2018, 2:11 PM IST

चरखी दादरी जिले के गांव फतेहगढ़ के कन्या प्राथमिक स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को घर से निकलने के बाद गंदे पानी में से गुजरकर स्कूल पहुंचना पड़ रहा है.

  • Share this:
चरखी दादरी जिले में एक ऐसा प्राथमिक स्कूल है, जहां नौनिहाल गंदे पानी में से होकर स्कूल जाने को मजबूर हैं. उन्‍हें स्कूल जाने से डर लगता है. परिजन अपने बच्चों को साथ लेकर गंदे पानी के बीच से होकर बच्चों को स्कूल पहुंचाते हैं. इतना ही नहीं, जलभराव होने के डर से कुछ ही बच्चे स्कूल जा पाते हैं.

जी हां, हम बात कर रहे हैं चरखी दादरी जिले के गांव फतेहगढ़ (पूर्व में भिवानी जिले का भाग) के कन्या प्राथमिक स्कूल की. हालांकि इसका नाम कन्‍या स्‍कूल है, लेकिन इस प्रायमरी में बच्‍चे-बच्चियां दोनों पढ़ते हैं. स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को घर से निकलकर गंदे पानी में से गुजरकर स्कूल पहुंचना पड़ रहा है.

इतना ही नहीं, बल्कि नौनिहालों के परिजनों को बच्चों के साथ पानी से होकर स्कूल छोड़ने जाना पड़ता है. हर वर्ष बारिश के दिनों में पानी भरने के कारण स्कूल में जाने वाले बच्चों की संख्या भी आधी रह जाती है. हालांकि ग्राम पंचायत व स्कूल प्रबंधन ने इस सबंध में प्राशनिक अधिकारियों को कई दफा अवगत भी करवाया, लेकिन हर बार की तरह समाधान नहीं हुआ.

स्‍कूल के हर तरफ दो-दो फुट बरसाती पानी जमा है. आने-जाने का एक भी रास्ता नहीं बचा है. पाठशाला में करीब डेढ़ सौ बच्चे शिक्षा ग्रहण करने आते हैं. इसी के अंदर आंगनबाड़ी केंद्र भी हैं, लेकिन बरसाती जलभराव इनके संचालन में बाधा बन रहा है. यही कारण है कि स्कूल में आने वाले बच्चों की संख्या मात्र 18 तक सिमट गई है.



फतेहगढ़ के सरपंच प्रतिनिधि नरेंद्र डूडी ने बताया कि गांव की उक्त सरकारी कन्या पाठशाला के बाहर जलभराव के हालात से बच्चों के साथ-साथ ग्रामीण भी परेशान हैं. पंचायत ने इस बारे में प्रशासन, पंचायत विभाग व संबंधित विभागों को सारी स्थिति से अवगत करवा दिया है. पंचायत के पास बजट नहीं है, फिर भी कोशिश रहेगी कि चंदा एकत्रित कर इस प्रकार के इंतजाम करने का प्रयास किया जाएगा, ताकि शैक्षणिक कार्य अवरुद्ध न हो.

खंड शिक्षा अधिकारी जयप्रकाश सभरवाल ने बताया कि स्कूल के बाहर पानी जमा होने की जानकारी मिली है. जलभराव की स्थिति को लेकर तुरन्त फोन कर प्रिंसिपल को आदेश जारी कर दिए गए हैं कि प्राथमिक स्कूल के आसपास से जब तक पानी की निकासी नहीं होती, तब तक सीनियर सेकंडरी स्कूल में ही क्‍लासें लगाई जाएं ताकि बच्चों को आने-जाने में किसी प्रकार की परेशानी न हो. इस बारे में संबंधित विभाग को भी अवगत करा दिया है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चरखी दादरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 3, 2018, 2:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,095

     
  • कुल केस

    5,734

     
  • ठीक हुए

    472

     
  • मृत्यु

    166

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (08:00 AM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,099,679

     
  • कुल केस

    1,518,773

    +813
  • ठीक हुए

    330,589

     
  • मृत्यु

    88,505

    +50
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर