Kisan Aandolan: फौगाट खाप ने किया सरकार के प्रतिनिधियों का सामाजिक बहिष्कार, BJP-JJP नेताओं का हुक्का-पानी बंद

फौगाट खाप ने पंचायत कर किया ऐलान

फौगाट खाप ने पंचायत कर किया ऐलान

Kisan Aandolan: किसानों की वोट लेकर उनके साथ धोखा करने वालों का सामाजिक बहिष्कार व हुक्का-पानी बंद किया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2021, 5:05 PM IST
  • Share this:
चरखी दादरी. फौगाट खाप की सर्वजातीय पंचायत ने फैसला लिया कि किसानों (Farmer) के साथ इस समय हो अन्याय हो रहा है, ऐसे हालातों में साथ नहीं देने वालों का सामाजिक बहिष्कार के साथ-साथ हुक्का पानी बंद किया जाएगा. खाप ने सर्वसम्मति से डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला, सांसद धर्मबीर सिंह व चेयरमैन राजदीप फौगाट का बहिष्कार करते हुए हुक्का पानी बंद करने का फरमान सुनाया. साथ ही शनिवार सुबह 10 बजे हजारों किसानों के साथ गाजीपुर बॉर्डर (Gazipur Border) के लिए कूच करेंगे. इसके अलावा खाप ने जिले की दूसरी खापों को भी नसीहत देते हुए सख्त निर्णय लेने की बात कही है.

खाप की सर्वजातीय पंचायत दादरी के स्वामी दयाल धाम पर खाप प्रधान बलवंत फौगाट की अध्यक्षता में आयोजित की गई. पंचायत में सभी समुदाय के लोगों के साथ-साथ सामाजिक संगठनों के पदाधिकारी भी पहुंचे. पंचायत में किसान आंदोलन को लेकर सरकार व पुलिस द्वारा कमजोर बनाने व आंदोलन को मजबूत करने बारे विचार-विमर्श किया गया.

इस दौरान सर्वसम्मति से निर्णय लिया कि किसानों की वोट लेकर उनके साथ धोखा करने वालों का सामाजिक बहिष्कार व हुक्का-पानी बंद किया जाएगा. पंचायत में डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला, सांसद धर्मबीर सिंह व हाऊसिंग बोर्ड के चेयरमैन राजदीप फौगाट का बहिष्कार करते हुए गांव में नहीं घुसने का फरमान सुनाया गया.

Youtube Video

आंदोलन को मजबूत करने की अपील

पंचायत अध्यक्ष व खाप प्रधान बलवंत फौगाट ने बताया कि पंचायत ने सर्वसम्मति से फैसलें लिए हैं. डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला, सांसद धर्मबीर सिंह व हाऊसिंग बोर्ड के चेयरमैन राजदीप फौगाट का बहिष्कार करते हुए हुक्का-पानी बंद किया है. वहीं भाजपा-जजपा नेताओं का भी बहिष्कार किया गया है. इसके अलावा दूसरी खापों से भी किसान आंदोलन को मजबूत करने की अपील की है.

कृषि कानूनों को वापिस करके ही लौटेंगे



खाप के गांवों से 30 जनवरी शनिवार को सुबह 10 बजे हजारों किसान गाजीपुर बार्डर के लिए कूच करेंगे. अगर संयुक्त किसान मोर्चा के किसी भी पदाधिकारी पर आंच आती है तो फौगाट खाप आगे आकर लड़ेगी और कृषि कानूनों को वापिस करके ही लौटेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज