किसानों से धोखाधड़ी: कपास खरीद में कटौती के नाम पर लाखों का गबन, ऐसे हुआ खुलासा

मौके पर जांच के बाद मामले का खुलासा हुआ. सांकेतिक फोटो.
मौके पर जांच के बाद मामले का खुलासा हुआ. सांकेतिक फोटो.

खरीद एजेंसी मैनेजर (Manager) पर केस दर्ज करने व सीआईए द्वारा जांच करवाने बारे एसपी (SP) को लेटर लिखा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 30, 2020, 3:44 PM IST
  • Share this:
चरखी दादरी. कपास की एमएसपी रेट पर खरीद के दौरान खरीद एजेंसी द्वारा वजन में कटौति करते हुए करीब 47 लाख रुपए का गबन किया गया है. इसका खुलासा किसानों (Farmers) द्वारा मिलों के कांटों पर वजन करने की शिकायत पर हुआ है. मार्केट कमेटी के अधिकृत कांटों की बजाए बाहर से वजन करने व नमी के नाम पर कटौति की जा रही थी. ऐसे में मार्केट कमेटी अधिकारियों ने खरीद एजेंसी मैनेजर पर केस दर्ज करने व सीआईए द्वारा जांच करवाने बारे एसपी को लेटर लिखा है.

बता दें कि चरखी दादरी जिले में 10 अक्तूबर से कपास की एमएसपी रेट पर खरीद शुरू की गई थी. जो कॉटन कारपोरेश ऑफ इंडिया (सीसीआई) द्वारा खरीद की जा रही है. खरीद के दौरान कपास की वजन करने के लिए मार्केट कमेटी द्वारा मंडी में स्थित कांटों को ही अधिकृत किया गया था. बावजूद इसके खरीद एजेंसी अधिकारियों द्वारा कपास का वजन मिल मालिकों से मिलकर बाहर मिलों में करवाया गया। जहां वजन के दौरान किसानों से प्रति क्विंटल दो किलोग्राम की कटौति की गई. किसानों की शिकायतों के आधार पर मार्केट कमेटी सचिव द्वारा खरीद एजेंसी मैनेजर को नोटिस जारी किया गया. बावजूद इसके कोई जवाब नहीं मिला तो मामले की जांच के बाद खुलासा हुआ.

करीब 47 लाख रुपए की धोखाधड़ी



जिले में अब तक 41 हजार 106 क्विंटल कपास की एमएसपी रेट पर खरीद की गई है. खरीद एजेंसी सीसीआई के मैनेजर द्वारा कपास का वजन कराने के दौरान प्रति क्विंटल दो किलोग्राम की कटौति करने पर कटौति का वजन 622 क्विंटल बनता है. सरकारी रेट 5725 के हिसाब से कुल 47 लाख 5 हजार 905 रुपए की धोखाधड़ी की गई है.


एसपी को लिखा लेटर, करेंगे कार्रवाई

मार्केट कमेटी के जिला कार्यकारी अधिकारी श्यामसुंदर ने बताया कि कपास खरीद के दौरान अधिकृत कांटों की बजाए बाहर के काटों से वजन करवाते हुए प्रति क्विंटल दो किलोग्राम की कटौति की है. ऐसे में मैनेजर द्वारा धोखाधड़ी करते हुए 47 लाख 5 हजार 905 रुपए का नुकसान सरकार व किसानों को पहुंचाया है. इस मामले में कार्रवाई करने के लिए एसपी को लेटर लिखा है. साथ ही मुकदमा दर्ज करने की मांग की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज