हरियाणा में कानून सिर्फ भौंकता और गरीबों को काटता है : नवीन जयहिंद

आम आदमी पार्टी के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष नवीन जयहिंद का कहना है कि रेवाड़ी गैंगरेप ही नहीं बल्कि प्रदेश में महिलाओं के साथ हरदिन घट रही घटनाओं को लेकर मुख्यमंत्री को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए, क्योंकि हरियाणा में कानून सिर्फ भौंकता है और गरीबों को काट रहा है.

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: September 16, 2018, 4:27 PM IST
हरियाणा में कानून सिर्फ भौंकता और गरीबों को काटता है : नवीन जयहिंद
दादरी में मीडिया से चर्चा करते हुए नवीन जयहिंद.
Pardeep Sahu
Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: September 16, 2018, 4:27 PM IST
आम आदमी पार्टी के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष नवीन जयहिंद का कहना है कि सीएम मनोहरलाल से प्रदेश संभल नहीं रहा है. प्रदेश में अब राक्षस राज हो गया है. रेवाड़ी गैंगरेप ही नहीं बल्कि प्रदेश में महिलाओं के साथ हरदिन घट रही घटनाओं को लेकर मुख्यमंत्री को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए, क्योंकि हरियाणा में कानून सिर्फ भौंकता है और गरीबों को काट रहा है.

नवीन जयहिंद रविवार को चरखी दादरी जिले के मुख्‍यालय दादरी में पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं की मीटिंग के बाद पत्रकारों से बात कर रहे थे. जयहिंद ने रेवाड़ी गैंगरेप के सभी आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी कर फास्ट ट्रैक कोर्ट के माध्यम से सुनवाई करने की मांग उठाई. उन्‍होंने कहा कि ऐसे आरोपियों को जल्द से जल्द फांसी की सजा मिलनी चाहिए.

उन्‍होंने कहा कि दिन-प्रतिदिन हरियाणा में बेटियों के साथ हो रही घटनाओं के कारण प्रदेश में बीजेपी का अब नया नारा 'बेटी उठाओ और बेटी मरवाओ' तक सीमिति रह गया है. सीएम के कार्यक्रम में पुलिस तैनात रहती है, क्‍योंकि पुलिस को वीआईपी ड्यूटी के लिए ही यूज किया जा रहा है. ऐसे में आमजन की सुरक्षा कैसे होगी. प्रदेश घट रही घिनौनी घटनाओं को देखते हुए अब महिलाओं को आगे आकर हथियार उठाना पड़ेगा, क्योंकि प्रदेश में कानून नाम की कोई चीज नहीं बची है. हरियाणा में सीएम व पूरी सरकार ने मंथन व चिंतन में ही अपना समय निकाल दिया है.

जयहिंद ने विधानसभा में हुई घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कांग्रेस व इनेलो सिर्फ गैंग पार्टी है. हरियाणा में जूतेमार या गोलीमार नेताओं की जरूरत नहीं बल्कि विकास करवाने वाले चाहिए. आने वाला समय आम आदमी का है और पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने के लिए घर-घर पहुंचकर आम लोगों को पार्टी से जोड़ा जाएगा.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर