• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • शहीद भूपेंद्र के पार्थिव शरीर के इंतजार में घरवालों की पथराई आंखें, मंगलवार शाम तक पहुंचने की उम्मीद

शहीद भूपेंद्र के पार्थिव शरीर के इंतजार में घरवालों की पथराई आंखें, मंगलवार शाम तक पहुंचने की उम्मीद

शहीद भूपेन्द्र चौहान का परिवार दो दिन से उनके पार्थिव शरीर का इंजतार कर रहा है. पत्नी का रो-रो कर बुरा हाल है.

शहीद भूपेन्द्र चौहान का परिवार दो दिन से उनके पार्थिव शरीर का इंजतार कर रहा है. पत्नी का रो-रो कर बुरा हाल है.

गत शनिवार को जम्मू-कश्मीर के बारामूला सेक्टर में पाकिस्तानी हमले में हरियाणा के जवान भूपेंद्र चौहान (Bhupendra Chauhan) शहीद (Martyr) हो गये. उनपर मोर्टार से हमला किया गया था.

  • Share this:
चरखी दादरी. देश की रक्षा करते हुए जम्मू-कश्मीर के बारामूला सेक्टर में जवान भूपेंद्र चौहान (Bhupendra Chauhan) शहीद (Martyr) हो गये. उनपर पाकिस्तान (Pakistan) की ओर से मोर्टार दागी गई थी. मोर्टार हमले में भूपेंद्र का शरीर क्षत-विक्षत हो गया. कई अंग नहीं मिलने के चलते पोस्टमार्टम में देरी हो रही है. मंगलवार शाम तक उनका पार्थिव शरीर पैतृक गांव बास (रानीला) पहुंचने की उम्मीद है. परिजन व ग्रामीण दो दिन से शहीद के पार्थिव शरीर के आने का इंतजार कर रहे हैं.

आखिरीबार 15 मार्च को छुट्टी पर आये थे घर

बता दें कि शनिवार सुबह बारामूला सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से की गई गोलीबारी में जिले के गांव बास (रानीला) निवासी 24 वर्षीय जवान भूपेंद्र चौहान शहीद हो गये. हमले में उनके साथ दो और जवान भी शहीद हो गये. जैसे ही यह समाचार घरवालों को मिला, परिवार समेत पूरा गांव गम में डूब गया. भूपेंद्र की शादी डेढ़ वर्ष पूर्व रेखा के साथ हुई थी और उनका मात्र 7 माह का एक बेटा है. भूपेंद्र 15 मार्च को छुट्टी काटकर घर से ड्यूटी पर गये थे.

छोटा भाई सेना में जाने की कर रहा तैयारी 

पिता मलखान सिंह खेती-बाड़ी करते हैं और छोटा भाई दीपक सेना में भर्ती के लिए तैयारी कर रहा है. भूपेंद्र का दादा, ताऊ भी सेना में रहे हैं. परिवार की तीसरी पीढ़ी में भूपेंद्र ने सेना में भर्ती होकर देश के लिए शहादत दी है.
गांव के बाहरी क्षेत्र में स्थित शहीद भूपेंद्र के घर पर सांत्वना देने वालों का तांता लगा हुआ है. पत्नी रेखा अपने 7 माह के बेटे के साथ भूपेंद्र के पार्थिव शरीर के आने का इंतजार कर रही है. उनका रो-रो कर बुरा हाल है.

मां राजबाई ने रोते हुए बताया कि मैंने भूपेंद्र को पालकर देश को समर्पित कर दिया. बेटे ने देश ही रक्षा करते हुए शहादत देकर गौरवान्वित किया है.

छोटा भाई दीपक ने कहा कि वह सेना में भर्ती की तैयारी कर रहा है. भाई ने देश की रक्षा के लिए शहादत दी है. अब वह सेना में भर्ती होकर पाकिस्तान से भाई के शहादत का बदला लेगा.

मंगलवार शाम तक पार्थिव शरीर पहुंचने की उम्मीद
शहीद भूपेंद्र चौहान का पार्थिव शरीर मंगलवार शाम तक गांव पहुंचने की उम्मीद है. भूपेंद्र के ताऊ जयमल व रामरतन ने बताया कि पाकिस्तान की ओर से सीधी लड़ाई में 30 मीटर की दूरी से दागी गई मोर्टार के हमले में उनका बेटा शहीद हुआ है. हमले में भूपेंद्र के शरीर के अंग क्षत-विक्षत होने से पोस्टमार्टम में देरी हो रही है. पिछले 72 घंंटे से एयरफोर्स व आर्मी की टीम तलाशी अभियान में जुटी है. आर्मी अधिकारियों ने उनको बताया कि मंगलवार सुबह तक पोस्टमार्टम हुआ तो शाम तक पार्थिव शरीर गांव पहुंचेगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज