दादरी के 13 गांवों की करीब 3 एकड़ भूमि बंजर होने के कगार पर

कृषि विभाग के अनुसार करीब तीन हजार एकड़ पर खरीफ की फसल पानी की भेंट चढ चुकी है. खरीफ फसल बर्बाद होने के बाद अब इस जमीन पर रबी फसल की बिजाई भी नहीं हो पाएगी.

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: December 26, 2018, 2:12 PM IST
दादरी के 13 गांवों की करीब 3 एकड़ भूमि बंजर होने के कगार पर
खेतों में भरा पानी
Pardeep Sahu
Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: December 26, 2018, 2:12 PM IST
चरखी दादरी के 13 गांवों में पिछले 8-9 वर्षों से जलभराव की समस्याएं आ रही हैं. हर बार स्थानीय प्रशासन व सिंचाई किसी तरह पानी की निकासी करता रहा है, लेकिन इस बार पानी निकासी का कार्य तो चल रहा है लेकिन जिस गति से पानी निकासी हो रही है. लगता नहीं कि रबी फसल की बिजाई पर पानी की निकासी हो पाए. जलभराव के कारण क्षेत्र की करीब 3 हजार एकड़ भूमि पर रबी की फसल की बिजाई का संकट हो गया है.

कृषि विभाग के अनुसार करीब तीन हजार एकड़ पर खरीफ की फसल पानी की भेंट चढ चुकी है. खरीफ फसल बर्बाद होने के बाद अब इस जमीन पर रबी फसल की बिजाई भी नहीं हो पाएगी. अगर अब भी प्रशासन की लापरवाही जारी रही तो अनेक किसान भुखमरी की कगार पर पहुंच जाएंगे. इन गांवों के अनेक किसान मजदूरी कर करके अपने परिवार को चला रहे हैं. जलभराव की सबसे बड़ी समस्या रोहतक रोड व दिल्ली रोड पर पडऩे वाले गांवों की जमीन की है. लगातार जलभराव होने व पानी की निकासी समय पर नहीं होने के कारण अनेक गांवों के किसानों की खेती लायक जमीन अब बंजर होने लगी है.



पानी निकासी के पुख्ता प्रबंध नहीं होने से हो रहा है नुकसान

किसान रणधीर सिंह कहते  हैं कि बार-बार प्रशासन से जलभराव की निकासी की मांग कर चुके हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही. क्षेत्र की हजारों एकड़ जमीन में बरसाती पानी जमा होने के कारण किसानों को लाखों रुपये का नुकसान हो रहा है. उन्होंने बताया कि लंबे समय से जलभराव के चलते पहले तो किसानों को खरीफ की फसलों से वंचित रहना पड़ा था और रबी की बिजाई भी संभव नहीं है. वहीं किसान धर्मबीर सिंह का कहना है कि लगातार जल भराव के कारण खरीफ की फसल भी बर्बाद हो चुकी है. इस बार भी पानी की निकासी न होने के कारण रबी फसल की बिजाई से भी उन्हें वंचित होना पड़ेगा. ऐसे में वे भूखा मरने के कगार पर हैं.

जलभराव के कारण रबी फसल की बिजाई का टारगेट घटने की आशंका

कृषि विभाग के अधिकारी रमेश रोहिल्ला ने बताया कि दादरी क्षेत्र के 13 गांवों में लगभग दो हजार एकड़ जमीन में जलभराव की स्थित बनी है. लगातार जलभराव की स्थिति को देखते हुए रबी की फसल की बिजाई भी प्रभावित होने की आशंका बनी रहेगी. जलभराव के कारण विभाग की रबी फसल की बिजाई का टारगेट घटने की भी आशंका है. कृषि अधिकारी के अनुसार जलभराव की जमीन की सर्वे की जा रही है और रिपोर्ट तैयार करके उच्चाधिकारियों को भेज दी जाएगी.

OMG: जान जोखिम में डाल एक बाइक पर सफर कर रहे 6 युवक, VIDEO वायरल
Loading...

आरक्षण को लेकर फिर इकट्ठा हुए जाट, बोले- सरकार ने नहीं मानी मांगें तो होगा आंदोलन
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...