'पानी नहीं तो वोट नहीं', इस गांव के लोग करेंगे विधानसभा चुनाव का बहिष्कार
Charkhi-Dadri News in Hindi

'पानी नहीं तो वोट नहीं', इस गांव के लोग करेंगे विधानसभा चुनाव का बहिष्कार
ज्ञापन सौंपते गांव के लोग

पानी की समस्या का स्थाई समाधान नहीं होने पर विधानसभा चुनाव में मतदान का बहिष्कार किया जाएगा.

  • Share this:
चरखी दादरी. जिले के गांव दातौली में करीब तीन दशक से पेयजल संकट से जुझ रहे ग्रामीणों ने पंचायत में लिए लिए विधानसभा चुनाव में मतदान बहिष्कार के फैसले को लेकर प्रशासन को अवगत कर पत्र सौंपा है. बार प्रधान ऋषिपाल पहल की अगुवाई में ग्रामीणों ने नायब तहसीलदार के माध्यम से सीएम के नाम लिखे पत्र में स्पष्ट किया है कि आचार संहिता लागू होने से पूर्व उनके गांव की समस्या का समाधान नहीं हुआ तो लोकसभा चुनाव की तरह विधानसभा चुनाव में कोई भी ग्रामीण मतदान नहीं करेगा.

बता दें कि गांव दातौली की पंचायत द्वारा 10 सितम्बर को सर्वसम्मति से निर्णय लेते हुए फैसला लिया था कि गांव में काफी समय से पेयजल संकट बना हुआ है. इसलिए इसका स्थाई समाधान नहीं होने पर विधानसभा चुनाव में मतदान का बहिष्कार किया जाएगा. पंचायत द्वारा लिए फैसले की प्रति ग्राम पंचायत द्वारा प्रशासनिक अधिकारियों को सौंपी गई.

ग्रामीणों द्वारा लोकसभा चुनाव में भी इस मुद्दे को उठाते हुए मतदान का बहिष्कार किया था. हालांकि उस समय प्रशासनिक अधिकारियों ने पेयजल संकट जल्द दूर करने का आश्वासन दिया था. ग्रामीणों का आरोप है कि सीएम के आश्वासन के बाद भी उनके गांव की समस्या का समाधान नहीं हो पाया.



5 करोड़ 75 लाख की परियोजना मंजूर, शीघ्र कार्य शुरू होगा
बाढड़ा विधायक सुखविंद्र मांढी ने बताया कि ग्रामीणों की पेयजल समस्या को लेकर हरियाणा सरकार काफी गंभीर है. मुख्यमंत्री द्वारा ग्रामीणों को आश्वासन दिया था, उसी अनुसार सरकार ने गांव की पेयजल परियोजना के लिए 5 करोड़ 75 लाख की राशि मंजूर कर दी है. जल्द ही टेंडर होने पर कार्य शुरू करवा दिया जाएगा. इसके अलावा क्षेत्र में करीब 200 करोड़ की पेयजल परियोजनाएं भी सरकार द्वारा मंजूर की हैं.

ये भी पढ़ें- गर्भवती भाभी से संबंध बनाना चाहता था देवर, इनकार करने पर उतारा मौत के घाट

ये भी पढ़ें- हरियाणा कांग्रेस की अध्यक्ष बनीं कुमारी शैलजा तो नाराज हुए ये दिग्गज नेता
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज