लाइव टीवी

इलाके में ‘नाकाबंदी’ फिर किसके इशारे पर हो रहा ओवरलोडिंग का ‘गंदा’ गेम?

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: May 18, 2019, 5:12 PM IST
इलाके में ‘नाकाबंदी’ फिर किसके इशारे पर हो रहा ओवरलोडिंग का ‘गंदा’ गेम?
प्रतिकात्मक तस्वीर

ओवरलोडिंग के नाम पर अवैध वसूली के आरोप में पकड़े गए दो दलालों की सूचना के बाद शनिवार अल सुबह पुलिस ने चरखी दादरी आरटीए कर्मचारियों के घर पर रेड मारते हुए आरटीए के असिस्टेंट सेक्रेटरी मनीष मदान, क्लर्क अमित के घर और दलालों के पास से कुल 50 लाख रुपए बरामद किए गए.

  • Share this:
प्रदेश के अधिकांश जिलों में ओवरलोडिंग का खेल बदस्तूर जारी है. दादरी जिले में प्रशासन व पुलिस द्वारा ‘नाकाबंदी’ की है, फिर ओवरलोडिंग का ‘गंदा’ गेम किसी के इशारे पर लगातार हो रहा है. इस पूरे मामले का भंडाफोड़ स्पेशल पुलिस टीम द्वारा पकड़े गए दो दलालों व दादरी आरटीए कार्यालय के पकड़े गए असिस्टेंट सेक्रेटरी और क्लर्क द्वारा किया गया.

ओवरलोडिंग के नाम पर अवैध वसूली के आरोप में पकड़े गए दो दलालों की सूचना के बाद शनिवार अल सुबह पुलिस ने चरखी दादरी आरटीए कर्मचारियों के घर पर रेड मारते हुए आरटीए के असिस्टेंट सेक्रेटरी मनीष मदान, क्लर्क अमित के घर और दलालों के पास से कुल 50 लाख रुपए बरामद किए गए. यह पूरी कार्रवाई रोहतक के सांपला डीएसपी नरेंद्र कादियान की अगुवाई में की गई. पुलिस ने मामला दर्ज कर चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर कार्रवाई शुरू कर दी है. इस क्षेत्र में ओवरलोडिंग के खेल में प्रशासन से शासन तक की संलिप्त होने के आरोप लगते रहे हैं.

ओवरलोडिंग की प्रति गाड़ी के 8 हजार की करते थे वसूली

पुलिस टीम द्वारा झज्जर जिले के गांव खरमाण निवासी रविंद्र उर्फ काला व रोहतक के डेयरी मोहल्ला निवासी सुरेंद्र राठी को सांपला में काबू किया था. इस दौरान पुलिस ने दोनों दलालों से करीब साढ़े 13 लाख रुपए की नकदी भी बरामद की थी. इस मामले में सांपला पुलिस द्वारा एफआईआर दर्ज की गई है. एफआईआर के मुताबिक दोनों दलाल मिलकर दादरी और नारनौल में डस्ट, रेती, रोडी की ओवरलोडिंग गाडिय़ों का बिना चालान कटे निकलवाने के लिए 8 हजार रुपए प्रति गाड़ी लेते हैं. वे दादरी आरटीए विभाग के लिए दलाली करते हैं. उनके इस खेल में आरटीए दादरी कार्यालय के असिस्टेंट सेक्रेटरी मनीष मदान व क्लर्क अमित शामिल है. दोनों दलाल मनीष मदान को एक दिन पूर्व भी 12 लाख व अमित को 8 लाख रुपए देकर आए हैं. अब 10 लाख और देने के लिए अवैध वसूली कर रहे हैं. पुलिस ने इस सूचना के आधार पर टीम गठित की और सांपला के छोटूराम पार्क में रेड की.

रात के अंधेरे में आरटीए कर्मियों के घर छापे

पुलिस ने दोनों दलालों की गिरफ्तारी के बाद चरखी दादरी शहर में छापेमार कार्रवाई की. इस दौरान किराये के मकान में रह रहे मनीष मदान और अमित को काबू किया तो उनसे कैश बरामद हुआ. पुलिस टीम को छापे के दौरान करीब 50 लाख रुपए की नकदी, एक लैपटॉप व एक डायरी भी बरामद हुए हैं. ऐसे में लैपटॉप व डायरी की जांच के बाद बड़ा घोटाला सामने आ सकता है.

घोटालों की सुखियों में रहा है आटीए कार्यालयचरखी दादरी क्षेत्र में खनन के दौरान हजारों बड़ी गाडिय़ां प्रतिदिन यहां से निकलती हैं. सीएम फ्लाइंग की टीमों द्वारा अनेकों बार चरखी दादरी आरटीए कार्यालय में कार्रवाई की जा चुकी है. सबसे पहले इस कार्यालय द्वारा सैंकड़ों वाहनों की फर्जी आरसी बनाने का मामला सामने आया था. इसके अलावा यहां पर टीम द्वारा दो आरटीए सचिवों के खिलाफ भी ओवरलोडिंग के नाम पर वसूली का मामला दर्ज हो चुका है. एक बार फिर लाखों का घोटाला सामने आया है.

प्रशासन से शासन तक संलिप्ता के आरोप

आरटीआई एक्टीविस्ट व एडवोकेट संजीव तक्षक ने संयुक्त रूप से बताया कि दादरी क्षेत्र में ओवरलोडिंग के नाम पर प्रति माह करोड़ों रुपए का गोलमाल होता है. इस पूरे मामले में प्रशासनिक अधिकारियों से लेकर सरकार के जनप्रतिनिधि तक शामिल हैं. हालांकि वे अनेकों बार संबंधित अधिकारियों के खिलाफ सीएम लेकर पीएम तक शिकायतें भेजकर कार्रवाई की मांग कर चुके हैं. लेकिन हर बार उनकी शिकायत ठंडे बस्ते में डाल दी जाती है. अब दादरी के नागरिक सोमवार को शहर में बड़ा प्रदर्शन कर सीबीआई जांच की मांग करेंगे.

यह भी पढ़ें:  

ओपी चौटाला के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, ईडी ने अटैच की 1 करोड़ 94 लाख रूपये की संपत्ति 

नए अवतार में दिखे राहुल गांधी, कैप्टन अमरिंदर को करवाई ट्रैक्टर की सवारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चरखी दादरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 18, 2019, 5:11 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर