चरखी दादरी: PM मोदी की होने वाली चुनाव रैली पर दलों के प्रत्याशियों ने ये कहा
Charkhi-Dadri News in Hindi

चरखी दादरी: PM मोदी की होने वाली चुनाव रैली पर दलों के प्रत्याशियों ने ये कहा
चरखी दादरी - पीएम 16 विधानसभा क्षेत्रों के प्रत्याशियों के लिए मांगेंगे वोट (फाइल फोटो)

पीएम मोदी चरखी दादरी से 16 विधानसभा क्षेत्रों के प्रत्याशियों के लिए चुनावी रैली को संबोधित करेंगे. दादरी की दोनों विधानसभा सीटों के साथ-साथ महेंद्रगढ़, झज्जर, रेवाड़ी, रोहतक व भिवानी जिले की विधानसभा सीटों के लिए प्रचार करेंगे.

  • Share this:
चरखी दादरी. हरियाणा में विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Election) को लेकर प्रचार अभियान चरम पर है. विभिन्न पार्टियों के प्रत्याशी अपने-अपने स्तर से चुनाव प्रचार में लगे हैं. इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) 15 अक्टूबर को चरखी दादरी में चुनाव रैली (Election Rally) को संबोधित करने पहुंचेंगे. पीएम की चुनाव रैली के बाद दक्षिण हरियाणा में चुनावी फिजा किस तरफ करवट बदलेगी, इसका पता चुनाव परिणाम आने के बाद ही चल पाएगा. पीएम मोदी की होने वाली रैली को सत्ता पक्ष ने 75 पार के नारे को साकार करना बताया तो विपक्षी पार्टियों के प्रत्याशियों ने पीएम की रैली को सिर्फ ढकोसला बताया.

16 विधानसभा के मतदाताओं को सम्बोधित करेंगे PM मोदी

पीएम मोदी चरखी दादरी (Charkhi Dadri) से 16 विधानसभा क्षेत्रों के प्रत्याशियों के लिए चुनावी रैली को संबोधित करेंगे. दादरी की दोनों विधानसभा सीटों के साथ-साथ महेंद्रगढ़, झज्जर, रेवाड़ी, रोहतक व भिवानी जिले की विधानसभा सीटों के लिए दादरी में रैली का स्थान निर्धारित किया गया है. दादरी से भाजपा की टिकट पर चुनाव लड़ रही रेसलर बबीता फोगाट (Babita Phogat) ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली उनके इलाके में होने जा रही है. ऐसे में यह उनका सौभाग्य है कि पीएम मोदी दादरी की धरती से चुनाव प्रचार का शुभारंभ करेंगे. रैली के बाद क्षेत्र की फिजा बदल जाएगी और खेल के बाद राजनीति के अखाड़े में सर्वाधिक वोटों से जीतकर विधानसभा में जाना रिकार्ड बन जाएगा.



रेसलर बबीता फोगाट ने कहा कि ये दादरी के लोगों का सौभाग्य है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां चुनाव रैली करेंगे.

'जजपा' ने कहा स्थानीय मुद्दों पर चुनाव लड़ा जा रहा है

वहीं जजपा (JJP) के प्रत्याशी व पूर्व मंत्री सतपाल सांगवान ने कहा कि प्रधानमंत्री को देश के सबसे छोटे जिले में प्रचार करने की आवश्यकता इसलिए पड़ी, क्योंकि भाजपा को यहां से सबसे कम वोटों से जमानत जब्त होती दिखाई दे रही है. यहां पाकिस्तान, अमेरिका की बात करने की बजाए स्थानीय मुद्दों पर चुनाव
लड़ा जा रहा है. मोदी जी को यहां आने से पहले इस पिछड़े हुए इलाके की जानकारी लेनी चाहिए कि उनकी भाजपा सरकार ने पिछले पांच वर्ष में यहां के लिए क्या किया.

भाजपा से टिकट नहीं मिलने पर निर्दलीय चुनाव लड़ रहे सोमबीर सांगवान ने कहा कि प्रधानमंत्री का इस धरती पर स्वागत है. उन्होंने कहा कि पीएम के आने से इस क्षेत्र के वोटरों पर कोई खास असर नहीं पड़ेगा, क्योंकि वोटरों ने भाजपा द्वारा दिए धोखे के चलते पहले ही मन बना लिया है.

विपक्षी पार्टियों के प्रत्याशियों ने एक सुर में कहा कि पीएम की होने वाली चुनाव रैली से कोई फर्क नहीं पड़ेगा. 


इनेलो ने कहा- कोई फर्क नहीं पड़ेगा

उधर इनेलो (INLD) प्रत्याशी नितिन जांघू का कहना है कि मोदी रैली से इस क्षेत्र में कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है. हरियाणा की धरती को स्व. देवीलाल जैसे नेता मिले हैं. आज उनके आदर्शों पर चलते हुए सभी वर्ग इनेलो की सरकार बनाने के लिए आगे आए हैं. यहां राष्ट्रवाद की बजाए स्थानीय मुद्दे हैं, जिनको लेकर चुनाव लड़ा जा रहा है.

ये भी पढ़ें - महेन्द्रगढ़ विधानसभा के 8 हजार युवाओं को योग्यता पर नौकरी मिली: रामबिलास शर्मा

ये भी पढ़ें - नड्डा का कांग्रेस पर हमला- राहुल का भाषण पाकिस्तान ने UNO में इस्तेमाल किया
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज