किराए की धर्मशाला में चल रही पाठशाला, भय के साये में पढ़ने को मजबूर नौनिहाल

पाठशाला की बिल्डिंग जर्जर हो चुकी है. इसके बावजूद जीर्णोद्धार कार्य शुरू कराने के लिए पाठशाला के 75 बच्चों को समीपवर्ती स्कूलों में शिफ्ट नहीं किया जा रहा.

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: August 30, 2019, 5:03 PM IST
किराए की धर्मशाला में चल रही पाठशाला, भय के साये में पढ़ने को मजबूर नौनिहाल
स्कूल की बिल्डिंग
Pardeep Sahu
Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: August 30, 2019, 5:03 PM IST
दादरी (Dadri) शहर के कबीर नगर स्थित प्राथमिक पाठशाला (School) एक धर्मशाला में चलाई जा रही है. पाठशाला की बिल्डिंग इस कदर जर्जर हो चुकी है कि नौनिहालों को भय के साये में पढ़ाई करने पर मजबूर होना पड़ रहा है. बिल्डिंग का बजट आने के एक साल भी जीर्णोद्धार कार्य शुरू न होने पर अभिभावकों ने नारेबाजी करते हुए रोष जताया.

उनका कहना है कि पाठशाला की बिल्डिंग जर्जर हो चुकी है. इसके बावजूद जीर्णोद्धार कार्य शुरू कराने के लिए पाठशाला के 75 बच्चों को समीपवर्ती स्कूलों में शिफ्ट नहीं किया जा रहा. इस संबंध में वो शिक्षा विभाग के अधिकारियों सहित जिला उपायुक्त धर्मवीर सिंह से भी गुहार लगा चुके हैं, लेकिन हालात जस के तस हैं.

1952 में बनाई गई थी धर्मशाला

कबीर नगर में रहने वाले लोगों ने बताया कि सन 1952 में धर्मशाला बनाई गई थी. 1974 में यहां प्राइमरी स्कूल शुरू कर दिया गया था. अभिभावकों ने बताया कि प्राइमरी स्कूल शुरू हुए 44 साल हो चुके हैं और पिछले कई सालों से बिल्डिंग जर्जर हो चुकी है. पहले पाठशाला के ग्राउंड फ्लोर और पहली मंजिल पर कक्षाएं लगती थीं, लेकिन हादसे के डर से अब नीचे ही कक्षाएं लग रही हैं.

बजट आया, फिर भी शुरु नहीं हुआ काम

अभिभावकों ने बताया कि पाठशाला के जीर्णोद्धार के लिए करीब एक साल पहले दस लाख का बजट भी आ चुका है, लेकिन अब तक काम शुरू नहीं हो पाया है. वहीं, उनके बच्चों को डर के साये में पढ़ाई करनी पड़ रही है. इन अभिभावकों ने बताया कि पाठशाला का जीर्णोद्धार कार्य शुरू करने के लिए यहां पढऩे वाले करीब 75 बच्चों को समीपवर्ती स्कूल में शिफ्ट करने में भी अधिकारी रुचि नहीं ले रहे हैं.

बच्चों के साथ-साथ स्कूट स्टाफ को भी डर
Loading...

इस दौरान उन्होंने समाधान न होने पर पाठशाला के मेन गेट को ताला जडऩे की चेतावनी दी. वहीं स्कूल अध्यापक का कहना है कि बिल्डिंग जर्जर होने के चलते विद्यार्थियों के साथ-साथ स्कूल स्टाफ को भी भय रहता है. छत कंडम हो चुकी हैं, कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है.

ये भी पढ़ें:- गुरुग्राम में 2 साल की मासूम के साथ रेप, आरोपी गिरफ्तार

महिला का आरोप, कैप्टन यादव की कोठी पर युवक ने किया दुष्कर्म

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चरखी दादरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 30, 2019, 5:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...