• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • चरखी दादरी: किसानों की तबाही का कारण बना सीवर ट्रीटमेंट प्लांट

चरखी दादरी: किसानों की तबाही का कारण बना सीवर ट्रीटमेंट प्लांट

किसानों ने की मुआवजे की मांग

किसानों ने की मुआवजे की मांग

एसडीएम संदीप अग्रवाल का कहना है कि सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट (Sewerage Treatment Plant) के स्टोरेज टैंक ओवरफ्लो (Overflow) हो गए थे, जिसके कारण खेतों में पानी जमा हो गया. इस बारे में जनस्वास्थ्य विभाग के कार्यकारी अभियंता बिजेंद्र हुड्डा द्वारा संज्ञान लिया गया है.

  • Share this:
चरखी दादरी. दिल्ली बाइपास रोड स्थित सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट (Sewerage Treatment Plant) ओवर फ्लो होकर दीवार टूटने से 4 गांवों के खेतों की करीब 200 एकड़ फसल पानी से लबालब हो गई, जिससे इन गांव के किसानों (Farmers) के लिए बेहद मुश्किलें खड़ी हो गई है. ट्रीटमेंट प्लांट के दूषित पानी पहुंचने से कई किसानों के खेतों उगी फसलें डूब गई है. इसके अलावा काफी संख्या में ग्रामीण अपने खेतों में जमा पानी की वजह से फसलों की की बिजाई नहीं कर पाएंगे.

खेतों में जलभराव का कारण सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट में पानी के स्टाक के लिए टैंकरों का लीक होना बताया जा रहा है. खेती पानी से लबालब होने के कारण किसानों ने रोष जताते हुए प्रशासन को ज्ञापन सौंपा है. साथ ही अल्टीमेटम दिया कि उनकी समस्या का दो दिन के अंदर समाधान नहीं हुआ तो वे जनस्वास्थ्य विभाग के कार्यालय को ताला जड़ देंगे.

बता दें कि करीब 20 वषों से वाटर ट्रीटमेंट प्लांट के आसपास की जमीन सेमग्रस्म होते हुए बंजर बनती जा रही है. किसानों अपनी बर्बादी का कारण सीवर ट्रीटमेंट प्लांट को मानने लगे हैं. हालांकि किसानों ने समस्या का समाधान नहीं होने पर जनस्वास्थ्य विभाग के कार्यालय पर ताला जडऩे की चेतावनी दी है. किसानों का कहना है कि खेतों से पानी की निकासी के लिए जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा कोई प्रबंध नहीं किए गए है, जिसके चलते किसानों में विभाग के प्रति गहरा रोष बना हुआ है.

उनका कहना है कि खेतों में जमा दूषित पानी के कारण उनकी फसले तबाह हो रही है तथा वे अगेती फसलों की बिजाई भी नहीं कर पाएंगे. भाकियू जिलाध्यक्ष जगबीर घसौला, किसान बखतावर, सतबीर, कृष्ण कुमार, पूर्व सरपंच सुरेंद्र आदि ने बताया कि जबसे उनके खेतों के नजदीक सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाया गया है. उनके लिए कृषि करना बेहद परेशानियों का सबब बन गया है.

प्लांट का पानी ओवर फ्लो होकर खेतों में जमा हो जाता है, जिसके चलते वे अपने खेतों में फसलों की बुआई भी नहीं कर पाते. उन्होंने बताया कि समस्या के समाधान के लिए वे अनेको बार संबंधित विभाग के अधिकारियों तथा प्रशासन से गुहार लगा चुके हैं, लेकिन अभी तक किसी ने भी समाधान नहीं किया, जिसके चलते उनकी उपजाऊ भूमि दूषित पानी के कारण बर्बाद हो रही है.

चार गांवों की सैंकड़ों एकड़ फसल बर्बाद

किसानों ने बताया कि सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट वाटर स्टोरेज टैंक ओवर फ्लो होने के कारण गांव समसपुर, ढाणी फौगाट, खातीवास, महराणा की करीब 200 एकड़ जमीन जलमग्न हो गई है. किसानों का कहना है कि उनके साथ ये परेशानी पिछले कई वर्षो से बनी हुई है. समस्या के समाधान के लिए वे जन स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों से लेकर अधिकारियों तक मिल चुके हैं, लेकिन विभाग द्वारा कोई समाधान नहीं किया जा रहा.

एसडीएम ने कही ये बात

एसडीएम संदीप अग्रवाल का कहना है कि सीवरेज ट्रिटमेंट प्लांट के स्टोरेज टैंक ओवरफ्लो हो गए थे, जिसके कारण खेतों में पानी जमा हो गया. इस बारे में जनस्वास्थ्य विभाग के कार्यकारी अभियंता बिजेंद्र हुड्डा द्वारा संज्ञान लिया गया है. मौका निरीक्षण कर लिया गया है और फिलहाल अस्थााई तौर पर समाधान किया जा रहा है. जल्द ही संबंधित विभाग से रिपोर्ट लेकर स्थाई समाधान करवा दिया जाएगा.

यह भी पढ़ें- हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने कहा, वीर सावरकर के बाल के बराबर भी नहीं राहुल गांधी

यह भी पढ़ें- राहुल गांधी की फसल खराब हो चुकी है, सोनिया गांधी उनकी ब्रांडिंग करवा रही है: जेपी दलाल

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज