लाइव टीवी

बलाली में नहीं बनेगा स्टेडियम और आधुनिक कुश्ती हॉल, सरकार ने रद्द किया प्रोजेक्ट
Charkhi-Dadri News in Hindi

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: February 6, 2019, 3:25 PM IST
बलाली में नहीं बनेगा स्टेडियम और आधुनिक कुश्ती हॉल, सरकार ने रद्द किया प्रोजेक्ट
बलाली में नहीं बनेगा स्टेडियम और आधुनिक कुश्ती हॉल, सरकार ने रद्द किया प्रोजेक्ट

हरियाणा सरकार ने गांव में बनने वाले खेल स्टेडियम और एयर कंडीशनर कुश्ती हॉल का पौने दो करोड़ रुपए का प्रोजेक्ट रद्द कर दिया है.

  • Share this:
हरियाणा के चरखी दादरी जिले में अंतरराष्ट्रीय पहलवान गीता, बबीता और विनेश फौगाट के गांव बलाली में अब खिलाड़ी आधुनिक सुविधाओं के बीच कुश्ती के गुर नहीं सीख पाएंगे. क्योंकि हरियाणा सरकार ने गांव में बनने वाले खेल स्टेडियम और एयर कंडीशनर कुश्ती हॉल का पौने दो करोड़ रुपए का प्रोजेक्ट रद्द कर दिया है. पूर्व मंत्री सतपाल सांगवान ने इसे सरकार पर क्षेत्र में विकास नहीं करने का आरोप लगाया है. वहीं बाढड़ा से बीजेपी विधायक सुखविंदर सिंह मांढी ने मुख्यमंत्री से मिलकर प्रोजेक्ट को शुरू कराने के लिए प्रयास करने की बात कही है.

मालूम हो कि चरखी दादरी जिले का छोटा सा गांव बलाली उस समय सुर्खियों में आया जब गीता फौगाट ने ओलंपिक में जगह बनाई थी. गीता के बाद उसकी बहनों बबीता और विनेश फौगाट ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अनेकों मेडल जीतकर देश का नाम रोशन किया. दंगल गर्ल के नाम से विख्यात गांव बलाली में द्रोणाचार्य अवार्डी कोच महावीर पहलवान द्वारा महिला पहलवानों की नर्सरी तैयार की गई. ऐसे में देश-विदेशों में बलाली का नाम स्वर्णिम अक्षरों में अंकित होने पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा बीते 18 सितंबर 2016 को चरखी दादरी रैली में गांव बलाली में आधुनिक एयर कंडीशन कुश्ती हाल और स्टेडियम बनाने की घोषण की थी.

इसके लिए सरकार द्वारा पौने दो करोड़ रुपए की राशि भी मंजूर की गई थी. दोनों प्रोजेक्ट के लिए खेल और पंचायत राज विभाग ने संयुक्त रूप से इसके निर्माण की प्रक्रिया शुरू की थी. इसी दौरान सरकार ने अपनी तीन वर्ष पहले की गई घोषणा को रद्द कर दिया. अब अंतरराष्ट्रीय बहनों के गांव में न तो स्टेडियम बनेगा और ना ही आधुनिक कुश्ती हॉल. ऐसे में युवा खिलाड़ियों के आधुनिक सुविधाओं के बीच कुश्ती के गुर सिखने के सपनों पर ग्रहण लग गया है.

 



 

 

द्रोणाचार्य अवार्डी पहलवान महावीर फौगाट का कहना है कि प्रदेश की सरकार स्टेडियम और कुश्ती हॉल प्रोजेक्ट को रद्द कर खिलाड़ियों की प्रतिभा दबाना चाहती है. ऐसे में सरकार ने क्षेत्र के सैंकडों युवा खिलाड़ियों की प्रतिभा निखरने से पहले ही मिट्टी में दबा दी है.

 

ये भी पढ़ें:- कर्ज के बोझ से दबे किसान ने पेड़ पर फांसी लगाकर दी जान

ये भी पढ़ें:- चरखी दादरी में लोक निर्माण विभाग की गाड़ी पलटी, एक्सईएन समेत 4 लोग घायल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चरखी दादरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 6, 2019, 3:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर