लाइव टीवी

ग्रामीणों ने दी चेतावनी- 'पेयजल समस्या का समाधान नहीं हुआ तो विधानसभा चुनाव का होगा बहिष्कार'

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: October 2, 2019, 12:34 PM IST
ग्रामीणों ने दी चेतावनी- 'पेयजल समस्या का समाधान नहीं हुआ तो विधानसभा चुनाव का होगा बहिष्कार'
35 वर्षों से पेयजल की समस्या से जूझ रहा गांव

चरखी दादरी (Charkhi Dadri) जिले के दतौली गांव में ग्रामीणों ने पानी की समस्या को लेकर विधानसभा चुनाव (Assembly Election) का बहिष्कार (Boycott) करने का ऐलान किया है.

  • Share this:
चरखी दादरी. हरियाणा (Haryana) में चरखी दादरी (Charkhi Dadri) जिले के दतौली गांव में ग्रामीणों ने पानी की समस्या को लेकर विधानसभा चुनाव (Assembly Election) का बहिष्कार (Boycott) करने का ऐलान किया है. पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से पेयजल की समस्या (Drinking water problem) से जूझ रहे गांव दातौली की पंचायत ने निर्णय लिया है कि उनके गांव की अगर पेयजल समस्या का समाधान नहीं हुआ तो वे विधानसभा चुनाव में मतदान नहीं करेंगे.

इस गांव ने लोकसभा चुनाव में भी मतदान का बहिष्कार किया था

इससे पहले ग्रामीणों ने लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) में भी मतदान का बहिष्कार किया था. उस समय मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया था कि जल्द ही पेयजल समस्या का समाधान हो जाएगा. बावजूद इसके समाधान नहीं होने पर ग्रामीणों ने सरकार के किसी भी कार्य में सहयोग नहीं करने और विधानसभा चुनाव में मतदान बहिष्कार का निर्णय लिया है. ग्रामीणों की मांग है कि पेयजल समस्या के निदान के लिए सतनाली फीडर से पेयजल लाइन जोड़ी जाए, ताकि पेयजल समस्या का सही तरीके से निदान हो सके.

35 वर्षों से पेयजल की समस्या से जूझ रहा गांव

ग्रामीणों का कहना है कि उनका गांव पिछले 35 वर्षों से पेयजल की समस्या से जूझ रहा है. उन्होंने कई बार इस समस्या के समाधान के लिए सरकार व प्रशासन को लिखित ज्ञापन सौंपा, पर आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गई. इससे नाराज होकर गांव वालों ने किसी भी राजनीतिक पार्टी के नेता व संबंधित पदाधिकारी को गांव में घुसने नहीं देने का फैसला किया है.

चुनाव बहिष्कार- election boycott
ग्रामीणों ने पानी की समस्या को लेकर डीसी को ज्ञापन सौंपा है


ग्रामीणों की मानें तो गांव में उन्हें पानी खरीदकर पीना पड़ रहा है. ऐसे में परेशान होकर पंचायत में विधानसभा चुनाव में मतदान बहिष्कार का निर्णय लिया है. गांव की पंचायत द्वारा लिए गए निर्णय के इस संबंध में बुधवार को उन्होंने डीसी को ज्ञापन सौंपा है.ये भी पढ़ें:- BJP में बग़ावत के सुर हुए तेज, कुलवंत बाजीगर ने लगाए भ्रष्टाचार के आरोप

ये भी पढ़ें:- सिरसा: BJP की टिकट नहीं मिलने पर जनता के सामने रोए ये संभावित उम्मीदवार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चरखी दादरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 2, 2019, 12:17 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर