लाइव टीवी

हरियाणा: अवैध रूप से की जा रही थी ऑक्सीजन गैस की रीफिलिंग, दो फैक्ट्रियां सील
Charkhi-Dadri News in Hindi

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: March 3, 2020, 2:37 PM IST
हरियाणा: अवैध रूप से की जा रही थी ऑक्सीजन गैस की रीफिलिंग, दो फैक्ट्रियां सील
फैक्ट्री को सील करते अधिकारी

एसडीएम संदीप अग्रवाल ने बताया कि उन्हें शिकायत मिली थी कि दो वर्षों से अवैध रूप से बिना लाइसेंस (Licence) व एनओसी के ऑक्सीजन गैस प्लांटों पर सिलेंडरों की रीफिलिंग (Refilling) की जा रही है.

  • Share this:
चरखी दादरी. प्रशासन और फायर विभाग ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए अवैध रूप से ऑक्सीजन गैस प्लांट (Gas Plant) में सिलेंडरों की हो रही रीफिलिंग पर शिकंजा कसा है. इस दौरान टीम ने बिना लाइसेंस, एनओसी के अवैध रूप से चल रही दो फैक्ट्रियों से ऑक्सीजन गैस (Oxygen ?Gas) की रीफिलिंग का सामान, मशीन और टैंक को जब्त करते हुए सील किया गया. इन ऑक्सीजन गैस प्लांटों से माइनिंग जोन के अलावा फैक्ट्रियों में वेल्डिंग और कटर के लिए प्रयोग की जा रही थी. अब प्रशासन द्वारा दोनों फैक्ट्रियों पर कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी.

एसडीएम संदीप अग्रवाल की अगुवाई में फायर विभाग की स्पेशल टीम ने दादरी शहर के औद्योगिक क्षेत्र में छापेमार कार्रवाई की. इस दौरान टीम ने चैक किया तो पाया कि सिलेंडरों में ऑक्सीजन गैस की रीफिलिंग की जा रही है. बकायदा गैस का टैंकर बनाया गया था और मशीनों द्वारा सिलेंडरों में गैस भरी जा रही थी.

फैक्टरी संचालकों से टीम द्वारा दस्तावेज मांगे तो कोई भी दिखा नहीं पाए. बिना लाइसेंस, एनओसी व अन्य दस्तावेजों के ये फैक्ट्रियां दो वर्ष से अवैध रूप से चल रही थी. टीम ने दोनों फैक्ट्रियों को सील करते हुए मशीन, टैंकर व अन्य सामान जब्त किया.



एसडीएम को मिली थी शिकायत



एसडीएम संदीप अग्रवाल ने बताया कि उन्हें शिकायत मिली थी कि दो वर्षों से अवैध रूप से बिना लाइसेंस व एनओसी के ऑक्सीजन गैस प्लांटों पर सिलेंडरों की रीफिलिंग की जा रही है. जिसके आधार पर छापेमार कार्रवाई की गई है. किसी भी फैक्टरी संचालक के पास किसी तरह के नार्मस व दस्तावेज नहीं मिले. फिलहाल इनको सील कर दिया गया है. प्रशासन द्वारा जांच कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

हो सकता था बड़ा हादसा

वहीं सहायक फायर अधिकारी बलवान सिंह ने बताया कि उनके विभाग द्वारा किसी भी फैक्टरी द्वारा ऑक्सीजन गैस को लेकर एनओसी नहीं ली गई है और ना ही किसी ने आवेदन किया है. फैक्ट्रियों में अवैध रूप से गैस की रिफलिंग करने से बड़ा हादसा हो सकता है. क्योंकि कोई नामर्स ही नहीं हैं.

यह भी पढ़ें: बलराज कुंडू तथ्य पेश करें तो होगी कार्रवाई : डिप्टी स्पीकर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चरखी दादरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 3, 2020, 2:37 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading