कुएं में जहरीली गैस की चपेट में आने से दो किसानों की मौत, एक गंभीर

कुएं को ठीक करने जौहरी सिंह कुएं में उतारा तो जहरीली गैस के कारण दम घुटने से बेहोश हो गया. काफी देर तक कोई आवाज नहीं आने पर सुमित अपने ताऊ को देखने कुएं में नीचे उतरा तो वह भी जहरीली गैस की चपेट में आने से बेहोश हो गया.

Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: June 13, 2019, 5:32 PM IST
कुएं में जहरीली गैस की चपेट में आने से दो किसानों की मौत, एक गंभीर
जहरीली गैस से किसानों की मौत
Pardeep Sahu
Pardeep Sahu | News18 Haryana
Updated: June 13, 2019, 5:32 PM IST
चरखी दादरी के गांव कलाली के खेतों में बने पुराने कुएं को ठीक करने उतरे तीन किसानों में से जहरीली गैस से दम घुटने से दो की मौत हो गई, जबकि एक अन्य किसान बेहोश हो गया. मृतक किसानों के शवों का दादरी के सरकारी अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाया गया है और गंभीर किसान को ऑक्सीजन लगाकर उपचार किया जा रहा है. मौके पर प्रशासनिक अधिकारी पहुंचे और जानकारी ली. वहीं परिजनों का आरोप है कि प्रशासन को सूचना देने के बावजूद भी उनकी सूध नहीं ली.

कुएं को ठीक करने पहुंचे थे किसान



गांव कलाली निवासी किसान जौहरी सिंह अपने परिवार के अन्य सदस्यों के साथ खेतों में बने कुएं को ठीक करने पहुंचे थे. दोपहरी कुएं को ठीक करने जौहरी सिंह कुएं में उतारा तो जहरीली गैस के कारण दम घुटने से बेहोश हो गया. काफी देर तक कोई आवाज नहीं आने पर सुमित अपने ताऊ को देखने कुएं में नीचे उतरा तो वह भी जहरीली गैस की चपेट में आने से बेहोश हो गया. दोनों किसानों की काफी देर तक कोई हलचल या आवाज सुनाई नहीं दी तो बलवान सिंह कुएं में उतर गया.

खेतों में काम कर रहे किसानों ने पुलिस को दी सूचना

तीनों किसान कुएं की जहरीली गैस के कारण बेहोश हो गए. पास ही कार्य कर रहे ग्रामीणों और किसानों ने घटना की जानकारी प्रशासन व पुलिस को दी. सूचना मिलने पर फायर ब्रिगेड व एंबूलेंस की गाडिय़ां मौके पर पहुंची और कड़ी मशक्कत के बाद तीनों को बाहर निकाला. इस दौरान दो किसान मृत पाए गए और बलवान सिंह की हालत गंभीर बनी हुई थी. चिकित्सकों की टीम ने गंभीर किसान को ऑक्सीजन लगाकर उपचार शुरू कर दिया. वहीं मृत दोनों किसानों के शवों को पोस्टमार्टम कर परिजनों को सौंप दिया.

परिजनों का आरोप समय पर पहुंचता प्रशासन तो बच जाती जान

परिजन समुन्द्र ने बताया कि घटना के बारे में उन्होंने प्रशासन को फोन कर दिया था. लेकिन काफी समय तक उनके पास कोई नहीं पहुंचा. करीब दो घंटे बाद फायर ब्रिगेड व एंबूलेंस की गाड़ी मौके पर पहुंची थी. दोनों के पास बचाव के लिए कोई पुख्ता उपकरण या मशीनें नहीं थी. अगर समय पर पहुंच जाते तो किसानों को बचाया जा सकता था. सरकारी अस्पताल पहुंचे नायब तहसीलदार राजकुमार ने बताया कि सूचना मिलते ही स्वाथ्स्य विभाग की टीम व फायर ब्रिगेड भेज दी थी. कुएं में जहरीली गैस होने के चलते दम घुटने से दो किसानों की मौत हुई है, जबकि तीसरे किसान का उपचार चल रहा है. फिलहाल सदर थाना पुलिस द्वारा इस मामले में कार्रवाई की जा रही है.
Loading...

ये भी पढ़ें- गुरुग्राम: इराकी नागरिक ने 8वीं मंजिल से फेंककर ली दो कुत्तों की जान, गिरफ्तार

ये भी पढ़ें- विधानसभा चुनाव: बीजेपी की इस समीक्षा के बाद हरियाणा के दो जाट नेताओं के लिए बढ़ी चुनौती!
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...