• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • पांच गांव के किसान बोले- जमीन का सवा करोड़ प्रति एकड़ नहीं दिया मुआवजा तो रोक देंगे नेशनल हाईवे का काम

पांच गांव के किसान बोले- जमीन का सवा करोड़ प्रति एकड़ नहीं दिया मुआवजा तो रोक देंगे नेशनल हाईवे का काम

जमीन के मुआवजे की मांग को लेकर प्रदर्शन करते किसान.

जमीन के मुआवजे की मांग को लेकर प्रदर्शन करते किसान.

ग्रीन कारिडोर 152डी नेशनल हाईवे (National highway) निर्माण के दौरान अधिग्रहीत की गई जमीन का कलेक्टर रेट (Collector Rate) लेने के लिए पांतच गांव के लोगों ने मिलकर प्रदर्शन(Protest) किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
चरखी दादरी. ग्रीन कारिडोर 152डी नेशनल हाईवे (National highway) निर्माण के दौरान अधिग्रहीत की गई जमीन का कलेक्टर रेट (Collector Rate) नहीं मिलने से नाराज पांच गांवों के किसानों ने एकजुट होकर आर-पार की लड़ाई लड़ने का फैसला लिया है. किसानों ने सीएम (CM) के नाम ज्ञापन सौंपते हुए प्रति एकड़ सवा करोड़ की मांग की है. साथ ही अल्टीमेटम दिया कि अगर उन्हें उचित मुआवजा (Compensation) नहीं मिला तो वे निर्माणाधीन नेशनल हाईवे के काम को रोक रोक देंगे और फिर से धरना शुरू करते हुए आर-पार की लड़ाई लड़ेंगे.

बता दें कि दादरी शहर के साथ लगते गांव ढाणी फौगाट, टिकान, खेड़ी, पातुवास और महराणा के किसानों द्वारा शहरी क्षेत्र के कलेक्टर रेट के अनुसार जमीन के मुआवजे की मांग करते हुए धरना दिया था. कारोना काल के दौरान किसानों ने धरना स्थगित कर दिया था. इस दौरान नेशनल हाईवे का निर्माण कार्य भी शुरू हो गया. इसी दौरान पांच गांवों के किसान फिर से एकजुट हुए और पंचायत करते हुए उचित मुआवजे की मांग की. गांव ढाणी फौगाट के सरपंच मंदीप फौगाट की अगुवाई में पांच गांवों के किसान लघु सचिवालय पहुंचे और रोष प्रदर्शन किया.

सोनीपत: थाने में युवती के साथ कथित गैंगरेप के मामले में कई पुलिसवालों पर केस दर्ज, वायरल हुई FIR की कॉपी

इस दौरान किसानों ने तहसीलदार अजय सैनी को सीएम के नाम ज्ञापन सौंपा. ज्ञापन में किसानों ने बताया कि ग्रीन कारिडोर 152डी की अधिग्रहीत जमीन का कलेक्टर रेट पर मुआवजा मिलना चाहिए. अगर सरकार ने सवा करोड़ प्रति एकड़ मुआवजा नहीं दिया तो हाईवे निर्माण रोकते हुए अनिश्चितकालीन धरना देंगे. वहीं तहसीलदार अजय सैनी ने बताया कि किसानों द्वारा दिया गया ज्ञापन उचित माध्यम से सरकार को भिजवा दिया जाएगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज