बेटे की लाश की तलाश के लिए पिता को थमाया 9.84 लाख रुपये का बिल

मामला हरियाणा के सोनीपत जिले का है बेटे के शव की तलाश के लिए महेश ठाकुर को 9.84 लाख रुपये का बिल थमा दिया गया है. बिल चुकाने पर दो दिन में शव तलाशने की बात कही जा रही है.

News18Hindi
Updated: May 19, 2019, 1:26 PM IST
बेटे की लाश की तलाश के लिए पिता को थमाया 9.84 लाख रुपये का बिल
सांकेतिक तस्वीर.
News18Hindi
Updated: May 19, 2019, 1:26 PM IST
हरियाणा के सोनीपत के रहने वाले महेश ठाकुर अपने जवान बेटे के शव को पाने के लिए यहां से वहां भटक रहे हैं. 3 दिन से उन्हें बेटे का मुंह देखने तक को नहीं मिला है. इतना ही नहीं बेटे के शव की तलाश के लिए महेश ठाकुर को 9.84 लाख रुपये का बिल थमा दिया गया है. बिल चुकाने पर दो दिन में शव तलाशने की बात कही जा रही है.

तारानगर के रहने वाले बीएसएनएल कर्मी महेश ठाकुर का बेटा रवि पर्वतारोही था. 7 अप्रैल को वह एवरेस्ट फतेह करने की कहकर घर से निकला था. रवि चार भाई-बहन में तीसरे नम्बर पर था. महेश बताते हैं कि रवि गुरुग्राम की एक कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर था. एवरेस्ट पर जाने के लिए उसने पर्वतारोही एन रिचर्ड हन्ना का ग्रुप चुना था. 10 मई को बेटे से आखिरी बात हुई थी. 11 मई को टीम ने एवरेस्ट पर चढ़ना शुरू किया था.



16 मई की दोपहर एवरेस्ट पर रवि ने तिरंगा फहराया था. लेकिन उसके बाद लौटते वक्त हादसा हो गया. हमे सूचना मिली कि रवि की मौत हो गई है. परिवार के कुछ लोग नेपाल पहुंच गए हैं. सोनीपत प्रशासन के अनुसार शव की तलाश जारी है.

वहीं, सर्च ऑपरेशन चलाने वाली एजेंसी सेवन माउंट्री ने 44 हजार यूएस डॉलर (करीब 9.84 लाख रुपए) के बिल की मांग की है. परिवार इतनी बड़ी रकम जमा करने में असमर्थ है. वहीं सोनीपत प्रशासन का कहना है कि हम पूरी तरह से रवि के परिवार के साथ हैं. रकम बड़ी होने की वजह से सरकार को मामले की रिपोर्ट भेजी गई है.

पेट्रोल पंप पर अब इस नए तरीके से शुरू हुई तेल की चोरी, एसटीएफ करेगी जांच

हनीट्रैप से मुम्बई के कारोबारी को किया किडनैप, लेकिन पुलिस की इस चाल में फंसे अपराधी

एटीएम फ्रॉड: पकड़े गए गिरोह ने बताया इस तरह के एटीएम को बनाते थे निशाना
Loading...




 

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...