Home /News /haryana /

Exclusive: हुड्डा बोले-देश से बड़ा आरक्षण नहीं, शांति से हल निकले तो ज्यादा अच्छा

Exclusive: हुड्डा बोले-देश से बड़ा आरक्षण नहीं, शांति से हल निकले तो ज्यादा अच्छा

जाट आरक्षण आंदोलन के हिंसक हो जाने के बीच हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंदर सिंह हुड्डा ने सबसे शांति और अमन बनाए रखने की अपील की है.

जाट आरक्षण आंदोलन के हिंसक हो जाने के बीच हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंदर सिंह हुड्डा ने सबसे शांति और अमन बनाए रखने की अपील की है.

जाट आरक्षण आंदोलन के हिंसक हो जाने के बीच हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंदर सिंह हुड्डा ने सबसे शांति और अमन बनाए रखने की अपील की है.

  • Pradesh18
  • Last Updated :
जाट आरक्षण आंदोलन के हिंसक हो जाने के बीच हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंदर सिंह हुड्डा ने सबसे शांति और अमन बनाए रखने की अपील की है.  हुड्डा ने इस मामले में राजनीति न करने के लिए भी कहा है. जाट आरक्षण मुद्दे पर प्रदेश18 से बातचीत के दौरान हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा-

हरियाणा आज जाट आरक्षण की मांग में झुलस रहा है. इस बारे में आपका क्या कहना है?
हरियाणा में जो हालत है वो बहुत ही दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है. लोग आरक्षण को लेकर हिंसा पर उतर आये हैं मेरी प्रदर्शनकारियों से अपील है की वे शांति बनाये रखें और सामाजिक ताना बाना तोड़ने वालों के झांसे में ना आये. वहीँ दूसरी ओर मैं चाहता हूँ सरकार भी इस मामले को गंभीरता से ले और शांति और संयम बनाने में लोगों की मदद करे.

शु्क्रवार को सर्वदलीय बैठक में किस तरह की बात रखी गई और सरकार ने किस तरह के आश्वासन देने की बात की?
मीटिंग में सभी दलों ने अपने सुझाव दिए की इस मामले को किस तरह से निपटा जा सकता है. सरकार ने आश्वासन दिया है की जल्दी ही इसका कोई न कोई हल निकल लिया जायेगा. वैसे सरकार चाहे तो ऐसे कई रास्ते है जिनसे समाधान निकला जा सकता है. हालांकि इस बारे में कुछ भी बात करना जल्दबाजी होगी.

जाटों के पानी को बंद किये जाने को लेकर कहा जा रहा है की दिल्ली में अब कुछ ही घंटों के लिए पानी बचा है यही हालत रही तो स्थिति को संभालना मुश्किल हो जायेगा?
शांति बनाये रखना सबकी प्राथमिकता है और पानी जैसी चीजों पर राजनीति होना शर्मनाक है.

आपको लगता है की खट्टर सरकार इस स्थिति पर नियंत्रण पाने में नाकाम रही है?
देखिए मैं एक राजनेता हूँ लेकिन इसके बावजूद मैं इसमें अभी कोई राजनीतिक बात नहीं करना चाहता हूं. मैं चाहता हूँ हरियाणा में किसी भी तरह बस शांति बरकार रहे. क्योंकि देश को नुकसान पहुंचाने से किसी का भी भला नहीं हो पायेगा.

आपको बता दें दूसरी ओर खट्टर सरकार ने भी जाटों को से आंदोलन खत्म करने की अपील की है और साथ ही ये आश्वासन भी दिया है कि जो वादे उनकी सरकार किए हैं वो उन्हें जरूर पूरा करेंगे.

मुख्यमंत्री खट्टर ने कहा है कि सरकार भी इस मामले में स्थायी हल चाहती है. हम आरक्षण के विरोध में नहीं है. इसके लिए जो भी संभव रास्ता होगा हम उसे खोलने के लिए तैयार हैं.

Tags: Haryana news, Jat reservation, हरियाणा

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर