Home /News /haryana /

गुरुग्रामः मुस्लिम एकता मंच का ऐलान, यदि सेक्टर-12 में हिंदू पूजा करते हैं तो दान में देंगे 5100

गुरुग्रामः मुस्लिम एकता मंच का ऐलान, यदि सेक्टर-12 में हिंदू पूजा करते हैं तो दान में देंगे 5100

 गुरुग्राम के सेक्टर-12 में मुस्लिम समुदाय द्वारा शुक्रवार को पढ़ी जा रही जुमे की नमाज को लेकर हिन्दू संगठन के लोगों ने विरोध किया था. (सांकेतिक फोटो)

गुरुग्राम के सेक्टर-12 में मुस्लिम समुदाय द्वारा शुक्रवार को पढ़ी जा रही जुमे की नमाज को लेकर हिन्दू संगठन के लोगों ने विरोध किया था. (सांकेतिक फोटो)

मुस्लिम एकता मंच के अध्यक्ष शहजाद खान (Shahzad Khan) ने कहा कि हमने डीसी से मुलाकात की और अपनी चिंताओं को उनके सामने रखा. उन्होंने कहा कि हमने प्रशासन से अनुरोध किया है कि या तो हमें जमीन आवंटित करें ताकि हम मस्जिदें बना सकें या जो बंद हैं उन्हें खोल दें ताकि हम वहां नमाज अदा कर सकें.

अधिक पढ़ें ...

    गुरुग्राम. गुरुग्राम के सेक्टर-12 (Gurugram Sector-12) में मुस्लिम समाज द्वारा खुले स्थान पर नमाज पढ़ने को लेकर जारी विवाद के बीच मुस्लिम एकता मंच के सदस्यों ने सोमवार को गुड़गांव के डिप्टी कमिश्नर से मुलाकात की. इस दौरान मुस्लिम एकता मंच (Muslim Ekta Manch) के सदस्यों ने डिप्टी कमिश्नर से मांग की कि प्रशासन गुरुग्राम में 19 वक्फ बोर्ड (19 Waqf Board) की संपत्तियों और मस्जिदों को खोल दे, जिन पर कथित तौर पर अतिक्रमण किया गया है या विवाद है. ऐसे में आसपास के मुस्लिम समाज के लोगों को खुले स्थान पर नमाज अदा करने की जुरुरत नहीं पड़ेगी. वे अपने मस्जिद में आराम से नामज पढ़ सकेंगे. साथ ही जारी विवाद भी खत्म हो जाएगा.

    दरअसल, गुरुग्राम के सेक्टर-12 में मुस्लिम समुदाय द्वारा शुक्रवार को पढ़ी जा रही जुमे की नमाज को लेकर हिन्दू संगठन के लोगों ने विरोध किया था. इस दौरान उन्होंने ‘जय श्री राम’ और ‘ भारत माता की जय’ की नारे लगाए थे. जबकि, नममाज बाधित करने के आरोप में करीब 30 लोगों को गुरुग्राम पुलिस  ने हिरासत में लिया था. वहीं, मुस्लिम समुदाय के लोग उस स्थान पर नमाज अदा करने आते रहे.

    नमाज पढ़ने की जरूरत नहीं पड़ेगी
    इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक, मुस्लिम एकता मंच के अध्यक्ष शहजाद खान ने कहा कि हमने डीसी से मुलाकात की और अपनी चिंताओं को उनके सामने रखा. उन्होंने कहा कि हमने प्रशासन से अनुरोध किया है कि या तो हमें जमीन आवंटित करें ताकि हम मस्जिदें बना सकें या जो बंद हैं उन्हें खोल दें ताकि हम वहां नमाज अदा कर सकें. अगर गुरुग्राम में 19 मस्जिदें खोल दी जाती हैं तो हमें खुले में नमाज पढ़ने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

    सेक्टर 12 में पूजा और भंडारा करने के निर्णय का स्वागत करते हैं
    उनका कहना है कि पिछले कुछ महीनों से कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा नमाज में खलल डाला जा रहा है. और दुश्मनी को बढ़ावा देने की कोशिश की जा रही है. ऐसे में हम चाहते हैं कि समुदायों के बीच सद्भाव बना रहे. उन्होंने कहा कि हम सेक्टर 12 में पूजा और भंडारा करने के निर्णय का स्वागत करते हैं. अगर वे हमें वहां से धक्का देकर पूजा करते हैं, तो हम वहां से जाने के लिए तैयार हैं. हम उनके साथ हैं और प्रार्थना के लिए 5,100 रुपये दान करेंगे. हमने प्रशासन से आगे की कार्रवाई के बारे में सूचित करने के लिए कहा है.

    30 सदस्यों को हिरासत में लिया था
    दरअसल, संयुक्त हिंदू संघर्ष समिति (SHSS) ने घोषणा की है कि वह शहर के खुले इलाकों में जुमे की नमाज का विरोध करने के लिए 5 नवंबर को गुरुग्राम के सेक्टर 12 में गोवर्धन पूजा करेगी. इस अवसर पर संगठन के सदस्य ‘अन्नकूट प्रसाद’ भी वितरित करेंगे. इसकी घोषणा रविवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में की गई थी. सेक्टर-12 वही जगह थी, जहां पुलिस ने 29 अक्टूबर को जुमे की नमाज में खलल डालने के प्रयास में हिंदू संगठनों के 30 सदस्यों को हिरासत में लिया था.

    Tags: Gurugram news, Haryana news, Hindu, Namaz, Namaz in Masjid

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर