हरियाणा: दुल्हन ने ट्वीट कर CM से लगाई गुहार, गली में भरा सीवर का पानी, कैसे आएगी मेरी बारात

दुल्हन की सीएम खट्टर से गुहार

दुल्हन की सीएम खट्टर से गुहार

Faridabad news: युवती ने मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल खट्टर को ट्वीट कर लिखा कि 16 फरवरी को उनकी शादी है, लेकिन गली में सीवर का पानी भरा होने से काफी दिक्‍कत हो रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 12, 2021, 1:02 AM IST
  • Share this:
फरीदाबाद. नगर निगम के लापरवाह अफसरों की वजह से एक लड़की को मुख्यमंत्री और निकाय मंत्री अनिल विज से ट्वीट कर इस बात की गुहार लगानी पड़ रही है कि जिस पर्वतीय कॉलोनी में रहती है, वहां पिछले काफी दिनों से सीवर का गंदा पानी सड़कों पर जमा है. कई बार शिकायत करने के बाद भी निगम के अफसरों ने इसे दुरुस्‍त नहीं करवाया है. इस युवती की 16 फरवरी को शादी होनी है और उनकी बारात इसी रास्‍ते आनी है.

कामनी का कहना है कि ऐसे माहौल में उनकी बरात उनके दरवाजे पर कैसे आएगी, जब गली में गंदा पानी भरा है. मीडिया ने जब कामनी के घर और उस गली को देखा जहां सीवर का गंदा पानी जमा है, तो वहां लोगों का साफ तौर से कहना था पिछले कई महीनों से गुहार लगा रहे हैं. इसके बावजूद कोई सुनने को तैयार नहीं है. अब ऐसे में 16 तारीख को कामनी की शादी होनी है. बारात घर पर आनी है और उससे पहले शादी से जुड़े तमाम तरह के कार्यक्रम घर पर आयोजित होने हैं, लेकिन निगम के अधिकारियों ने सीवर को दुरुस्‍त करने को लेकर कोई कदम नहीं उठाया है.

एक साल से गलियों में है सीवर की समस्या

वार्ड नंबर 5-6 की रहने वाली बीमा शर्मा, ममता शर्मा, रामबीर, सुशीला, सौरभ त्यागी, सर्वेश, रामसिंह यादव आदि का कहना था कि पर्वतीय कॉलोनी के गली नंबर 73 से 79 और एनवीएम वाली गली में करीब एक साल से सीवर का पानी जमा रहता है. निगम पार्षद से लेकर विधायक और मंत्री तक अपनी समस्या पहुंचा चुके हैं. दर्जनों बार निगम अधिकारियों से मिलकर गुहार लगा चुके हैं, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ.
Youtube Video


ढाई हजार की आबादी का निकलना मुश्किल

स्थानीय लोगों का कहना है कि इन आधा दर्जन गलियों में सीवर का पानी भरा होने के कारण करीब ढाई हजार की आबादी समस्या से जूझ रही है. बच्चों का स्कूल आना-जाना मुस्किल हो रहा है. हालात इतने खराब हो गए हैं कि अब सीवर का पानी घरों में पहुंचने लगा है, लेकिन निगम के एक्‍सईएन और एसडीओ समस्या का समाधान करने के बजाय बहानेबाजी करने में लगे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज