Nikita Murder Case: बल्लभगढ़ कांड पर भड़के बाबा रामदेव, बोले- हत्यारों को चौराहे पर दी जाए फांसी

लव जिहाद को लेकर केंद्र और राज्‍य सरकारें बनाएं कड़े कानून- रामदेव (फाइल फोटो)

Nikita Murder Case: निकिता तोमर हत्याकांड को लेकर योग गुरु स्वामी रामदेव (Swami Ramdev) ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. उन्‍होंने कहा कि लव जिहाद (Love Jihad) के दोषियों को चौराहों पर फांसी जैसी सजा नहीं दी जाएगी, तो अपराध नहीं रुक पाएंगे.

  • Share this:
    हरिद्वार/फरीदाबाद. योग गुरु स्वामी रामदेव (Swami Ramdev) ने गुरुवार को लव जिहाद (Love Jihad) के नाम पर देश मे हो रही नृशंस हत्याओं को शर्मनाक बताते हुए बल्लभगढ़ की निकिता तोमर हत्याकांड (Nikita Murder Case) के आरोपियों के लिए सार्वजनिक रूप से फांसी की सजा की मांग की, जिससे ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति को रोका जा सके. उन्‍होंने कहा कि ऐसे जघन्य अपराधों से भारत व भारत माता कलंकित हो रही है. रामदेव ने आगे कहा कि जब तक दोषियों को चौराहों पर फांसी जैसी सजा नही दी जाएगी,तब तक सरे बाजार होने वाले ऐसे अपराध नहीं रुक पाएंगे.

    केंद्र सरकार और राज्य सरकारों से की ये अपील
    पतंजलि योगपीठ में एक धार्मिक आयोजन के बाद पत्रकारों से बात करते हुए स्वामी रामदेव ने केंद्र सरकार और राज्य सरकारों से लव जिहाद को लेकर कडे़ कानून बनाने के साथ अपराधियों से सख्ती से निपटने की भी मांग की है. इसके साथ उन्होंने इस संबंध में इस्लामिक गुरुओं और मौलवियों से भी लव जिहाद का खिलाफत करने को कहा, ताकि समाज मे हो रहे जघन्य अपराधों को रोका जा सके.

    आरोपियों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत
    इस मामले में कोर्ट ने मुख्‍य आरोपी तौसीफ के साथ एक अन्‍य आरोपी अजरू को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. जबकि एक अन्‍य आरोपी रेहान को पुलिस द्वारा कल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा. बता दें कि पुलिस ने दोनों को दो दिन की रिमांड पर लिया था. यही नहीं, इस दौरान मर्डर में इस्तेमाल हथियार और गाड़ी को पुलिस ने बरामद कर लिया गया. साथ ही हत्‍याकांड के मुख्‍य आरोपी तौसीफ को हथियार देने वाले को भी गिरफ्तार किया गया है.

    फरीदाबाद में बीकॉम छात्रा निकिता तोमर की दिनदहाड़े हत्‍या कर दी गई. सीसीटीवी में दर्ज पूरी घटना जब सामने आई तो आरोपी के कांग्रेस विधायक का रिश्‍तेदार होने की बात पता चली. गिरफ्तार तौसीफ की उम्र 21 वर्ष है. आरोपी फिजियोथैरेपी का कोर्स कर रहा है.यही नहीं, तौसीफ और निकिता दोनों फरीदाबाद के एक स्‍कूल में साथ पड़े थे. निकिता 12वीं की बोर्ड टॉपर्स में थी और सिविल सविर्सिज एग्‍जाम की तैयारी कर रही थी. 2018 में स्‍कूल खत्‍म होने के बाद दोनों अलग-अलग कॉलेज में पढ़ने लगे.



    पुलिस के अनुसार, उसी साल तौसीफ ने निकिता का अपहरण किया था. मामला दर्ज हुआ था लेकिन पंचायत के बाद वापस ले लिया गया. निकिता के पिता ने बताया कि तौसीफ कई सालों से उनकी बेटी पर धर्म परिवर्तन कर उससे शादी करने का दबाव बना रहा था. निकिता पढ़ाई में हमेशा अव्वल आती थी. ऐसे में वो उससे बात भी नहीं करना पसंद करती थी. निकिता के पिता का दावा है कि आरोपित की मां पिछले दो साल से बेटी पर धर्म परिवर्तन का दबाव डाल रही थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.