फेसबुक पर विदेशी लड़की बनकर लड़कों को फांसते थे, 5 नाइजीरियन समेत 7 गिरफ्तार
Faridabad News in Hindi

फेसबुक पर विदेशी लड़की बनकर लड़कों को फांसते थे, 5 नाइजीरियन समेत 7 गिरफ्तार
फरीदाबाद पुलिस ने फेसबुक पर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया.

पुलिस (Police) के मुताबिक चारों नाइजीरियन युवक (Nigerian) विदेशी लड़की बनकर फेसबुक (Facebook) पर फ्रेंड बनते थे. और दोनों भारतीय एयरपोर्ट अधिकारी बनकर अकाउंट में पैसे डलवाते थे. बाद में ये लोग उन रुपयों को आपस में बांट लेते थे.

  • Share this:
फरीदाबाद. अगर आप भी फेसबुक (Facebook) यूजर हैं और किसी के फ्रेंड रिक्वेस्ट को आसानी से स्वीकार कर लेते हैं तो यह खबर आपके लिए है. फरीदाबाद पुलिस (Faridabad Police) ने एक ऐसे विदेशी गिरोह (Foreign Gang) का पर्दाफाश किया, जिसके सदस्य फेसबुक पर विदेशी लड़की (Foreign Girl) बनकर पहले लड़कों को फंसाते थे. फिर कीमती गिफ्ट भेजने की बात कह पैसे ठगते (Cheating) थे. पुलिस ने इस गिरोह के शिकार हुए एक शख्स की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए एक महिला समेत पांच नाइजीरियन (Nigerian) और दो भारतीय युवकों को गिरफ्तार (Arrest) कर लिया.

फरीदाबाद के शख्स को बनाया शिकार

एसीपी धारणा यादव ने बताया कि ये लोग फेसबुक पर लोगों को बेवकूफ बनाया करते थे और उनसे पैसे ठग लिया करते थे. ऐसा ही एक मामला फरीदाबाद में तब सामने आया, जब एक व्यक्ति को फेसबुक पर विदेशी महिला का फ्रेंड रिक्वेस्ट आया. व्यक्ति ने रिक्वेस्ट स्वीकार कर लिया. धीरे-धीरे दोनों में बातचीत होने लगी. फिर विदेशी लड़की ने कहा कि वह उससे प्यार करने लगी है और उसे एक गिफ्ट भेज रही है. शख्स खुश हो गया. इसके बाद शख्स के पास कथित तौर पर एयरपोर्ट अधिकारियों का फोन आया. जिसने कहा कि उसका एक पार्सल आया है और उसे गिफ्ट लेने के लिए अकाउंट में कुछ पैसे जमा कराने होंगे. शख्स ने पैसे जमा करा दिए. उसके बाद विदेशी लड़की ने उससे बातचीत करनी बंद कर दी.



आगे की छानबीन में जुटी पुलिस 
कुछ दिन बाद में शख्स को खुद के ठगे जाने का एहसास हुआ और वह थाने जा पहुंचा. पुलिस ने उसकी शिकायत पर कार्रवाई करते हुए एक महिला समेत पांच नाइजीरियन और दो भारतीयों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार नाइजीरियन युवक लड़की बनकर फेसबुक पर फ्रेंड बनते थे. और गिरफ्तार दोनों भारतीय एयरपोर्ट अधिकारी बनकर अकाउंट में पैसे डलवाते थे. बाद में सभी उन रुपयों को बांट लिया करते थे.

पुलिस आरोपियों से पूछताछ करने में जुटी है. पुलिस को उम्मीद है कि आरोपियों से पूछताछ में कई और भी खुलासे होंगे. पुलिस के मुताबिक इस गिरोह में एक नाइजीरियन महिला भी शामिल है. गिरोह का एक सदस्य 2012 में जबकि बाकी सभी सदस्य 2015 में भारत आये थे. इस गिरोह के एक सदस्य का वीजा 2017 में एक्सपायर हो चुका है, बावजूद इसके वह भारत में अवैध रूप से रह रहा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading