गुरुग्राम: युवाओं को अपनी चपेट में ले रहा कोरोना, सरकारी आंकड़े डराने वाले
Faridabad News in Hindi

गुरुग्राम: युवाओं को अपनी चपेट में ले रहा कोरोना, सरकारी आंकड़े डराने वाले
कोरोना की चपेट में युवा (फाइल फोटो)

मौत के आंकड़ों पर नजर डालें तो अभी तक प्रदेश में कोरोना से मौत के आंकड़े 188 आए है, जिसमे से 75 मौतें गुरुग्राम में हुई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 26, 2020, 10:46 AM IST
  • Share this:
गुरुग्राम. जित दूध दही का खाना, वो है म्हारा वीर हरियाणा इस स्लोगन वाले प्रदेश में कोरोना बुजुर्गों को कम युवाओं को ज्यादातर अपना शिकार बना रहा है. स्वास्थ्य विभाग (Health Department) के आंकड़ों के मुताबिक गुरुग्राम (Gurugram) जिले में लगभग 50 प्रतिशत युवा कोरोना की गिरफ्त में है तो वहीं मारने वालो में भी ज्यादातर 31 साल के युवा से लेकर 90 साल तक के बुजुर्ग शामिल हैं.

बता दें कि प्रदेश की आर्थिक राजधानी कहे जाने वाला शहर गुरुग्राम ने जिस तरह से कामयाबी की शोहरत हासिल की है, वहीं अब कोरोना के बढ़ते आंकड़ों में भी रिकॉर्ड तोड़ रहा है. पूरे प्रदेश में 39 प्रतिशत कोरोना संक्रमित मरीज गुरुग्राम से मिल रहे है. अभी तक प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों के आंकड़े 12010 आए है, जिसमे से 4762 अकेले गुरुग्राम के है. तो वहीं कोरोना से मरने वालो में भी सबसे ज्यादा संख्या गुरुग्राम में है.

गुरुग्राम में कोरोना से 75 लोगों की मौत



मौत के आंकड़ों पर नजर डालें तो अभी तक प्रदेश में कोरोना से मौत के आंकड़े 188 आए है, जिसमे से 75 मौतें गुरुग्राम में हुई है. मरने वालों में ज्यादातर 31 साल के युवा से लेकर 90 साल के बुजुर्ग तक शामिल है जिसमे 55 पुरुष तो वहीं 19 महिलाएं है.
स्वास्थ्य विभाग पर खड़े हुए सवाल

जिले में बढ़ रहे कोरोना के आकड़ो ने स्वास्थ्य विभाग की सुविधाओं पर सवाल खड़ा कर दिया है. वहीं स्वास्थ्य विभाग भी इन आंकड़ों को देखकर परेशान है. गुरुग्राम स्वास्थ्य विभाग के पीआरओ डॉक्टर जय प्रकाश की मानें तो युवा ज्यादातर घर से बाहर एक दूसरी जगहों पर आते जाते रहते है जिसके कारण ज्यादातर युवा ही इस बीमारी का शिकार हो रहे है. तो वहीं मरने वाले आकड़ो पर भी पीआरओ का कहना है कि इस बीमारी से मरने वाले लोगों में ज्यादातर डायबिटीज जैसी बीमारियों के रोगी है.

आम लोगों पर फोड़ा ठीकरा

इन आंकड़ों पर अपनी नाकामी छुपाते हुए स्वास्थ्य विभाग सारा ठीकरा आम लोगों पर ही फोड़ता नजर आ रहा है. लेकिन इन बढ़ते आंकड़ों से एक बात तो साफ है कि समय रहते अगर स्वास्थ्य विभाग ने कोई ठोस कदम नहीं उठाया तो आने वाले समय में कोरोना नियंत्रण से पूरी तरह बाहर हो जाएगा, जिसका परिणाम कहीं ना कहीं आम लोगों को ही भुगतना पड़ेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading