Home /News /haryana /

हरियाणा: संपत्ति के लिए बहू ने रची खूनी साजिश, प्रेमी को जेल से छुड़वाकर कराई ससुर की हत्या

हरियाणा: संपत्ति के लिए बहू ने रची खूनी साजिश, प्रेमी को जेल से छुड़वाकर कराई ससुर की हत्या

प्रेमी को जेल से छुड़वाकर कराई ससुर की हत्या

प्रेमी को जेल से छुड़वाकर कराई ससुर की हत्या

Faridabad Police: पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने कहा कि इस घटना में आरोपी महिला गीता के साथ उसका प्रेमी दलीप उर्फ सैंडी उर्फ कालिया भी शामिल है, जो गुरुग्राम का रहने वाला है. वह गीता को करीब 6–7 साल से जानता था.

फरीदाबाद. हरियाणा (Haryana) के फरीदाबाद पुलिस (Faridabad Police) ने एक बुजुर्ग की हत्या करने के आरोप में एक ऐसी महिला को गिरफ्तार किया है, जिसने अपने प्रेमी के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया है. कहा जा रहा है कि अपने ससुर की संपत्ति पर आरोपी महिला की नजर थी. ऐसे में उसने अपने प्रेमी के साथ मिलकर ससुर को रास्ते से हटाने के लिए पूरी साजिश रची. फिर उसने तमंचा खरीदने के लिए प्रेमी को खुद पैसे दिए. उसी तमंचे से गोली मारकर बुजुर्ग की हत्या (Murder) की गई.

दरअसल, एक हफ्ते पहले बल्लभगढ़ की न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में भरत सिंह नाम के एक बुजुर्ग की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. पुलिस ने जब इस मामले की जांच शुरू की तो सारी सच्चाई सामने आ गई. इसके बाद पुलिस ने बहू को गिरफ्तार कर लिया, जिसकी पहचान गीता के रूप में हुई है. स्थानीय थाना पुलिस का कहना है कि मृतक भरत सिंह आरोपी महिला के पति का सौतेला बाप था. जबकि भरत सिंह के असली बेटे सूरज की पिछले साल ट्रेन हादसे में मौत हो गई थी.

सैंडी को भी शामिल कर लिया
आज तक के मुताबिक, उसकी मौत के बाद सूरज की पत्नी भी अपने मायके चली गई. इसके बाद गीता भरत पर सारी प्रॉपर्टी उसके नाम करने का दबाव बनाने लगी. क्योंकि सारी जायदाद गीता के ससुर भरत सिंह के ही नाम है. गीता बार-बार यही जिद करती लेकिन भरत सिंह ने ऐसा करने से साफ इनकार कर दिया. ऐसे में गीता ने अपने ससुर को जान से मारने की योजना बनाई. इस योजना को अकेले अंजाम तक पहुंचाना मुमकिन नहीं था. लिहाजा गीता ने इस प्लान में अपने प्रेमी दलीप उर्फ सैंडी को भी शामिल कर लिया.

वारदात को अंजाम दिया गया
पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने कहा कि इस घटना में आरोपी महिला गीता के साथ उसका प्रेमी दलीप उर्फ सैंडी उर्फ कालिया भी शामिल है, जो गुरुग्राम का रहने वाला है. वह गीता को करीब 6–7 साल से जानता था. उसके खिलाफ पहले से ही हत्या समेत कई संगीन धाराओं में मुकदमे दर्ज हैं. वह जेल में सजा भी काट चुका है. गीता ने ही उसकी जमानत करवाई थी. ससुर को रास्ते से हटाने के लिए एक हथियार की ज़रूरत थी. लिहाजा आरोपी गीता ने ही तमंचा खरीदने के लिए अपने प्रेमी सैंडी को 4000 रुपये दिए थे. दलीप ने ही गीता को 2 कारतूस, देसी तमंचा और नींद की गोलियां लाकर दी थी. इसके बाद वारदात को अंजाम दिया गया.

Tags: Gurugram news, Haryana news, Haryana police, Murder

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर