आंगनवाड़ी वर्कर एंड हेल्पर यूनियन को पूर्व परिवहन मंत्री ने दिया समर्थन

आंगनवाड़ी वर्कर और हेल्पर यूनियन की तरफ से पिछले कई दिनों से लघु सचिवालय में अनिश्चितकालीन धरना चल रहा है. आज पूर्व परिवहन मंत्री आफताब अहमद ने उनको समर्थन दिया.

ETV Haryana/HP
Updated: February 15, 2018, 5:45 PM IST
आंगनवाड़ी वर्कर एंड हेल्पर यूनियन को पूर्व परिवहन मंत्री ने दिया समर्थन
आंगनवाड़ी कर्मचारियों का प्रदर्शन
ETV Haryana/HP
Updated: February 15, 2018, 5:45 PM IST
मेवात जिले के लघु सचिवालय में आंगनवाड़ी वर्कर एंड हेल्पर यूनियन कि पिछले कई दिनों से चल रही अनिश्चितकालीन हड़ताल मैं आज पूर्व परिवहन मंत्री आफताब अहमद ने समर्थन दिया और कहा कि जिस प्रकार से यह सरकार हर मामले में फेल हो रही है.

आफताब अहमद ने कहा कि आज हर विभाग के कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर सड़कों पर उतरे हुए हैं लघु सचिवालय नूंह में आंगनवाड़ी वर्कर और हेल्पर अपनी मांगों को लेकर पिछले कई दिनों से अनिश्चितकालीन धरने पर बैठी हुई हैं. सरकार ने चुनावों के समय बड़े-बड़े वादे कर कर इनका वोट लिया था अब उन वादों को पूरा नहीं कर रही है जिनकी वजह से आज कर्मचारियों को धरने प्रदर्शन करने पड़ रहे हैं.

बता दें कि आंगनवाड़ी वर्कर और हेल्पर यूनियन की तरफ से पिछले कई दिनों से लघु सचिवालय में अनिश्चितकालीन धरना चल रहा है. धरने पर बैठी आंगनवाडी कर्मचारियों का कहना है कि सरकार मात्र 3000 रुपए  मासिक वेतन आंगनवाड़ी वर्करों को देती है तथा हेल्परों को 1500 रुपए  मासिक वेतन देती है.  सुबह से शाम तक ड्यूटी कराई जाती है उन्होंने कहा कि माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार सभी को सामान काम  सामान वेतन दिया जाना चाहिए.

आंगनबाड़ी वर्कर एवं हेल्पर यूनियन की महिलाओं ने चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक उनकी मांगे नहीं मानी जाएगी तब तक वह धरने पर बैठी रहेगी. उसके लिए उनको चाहे जो कुर्बानी देनी पड़े. 14 सूत्रीय मांगों में वेतन बढ़ाने के अलावा सरकारी कर्मचारियों के समान सभी सुविधाएं शामिल हैं. महिलाओं ने सरकार पर आरोप लगाया कि भाजपा राज में भी उनके हितों की अनदेखी की जा रही है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर