होम /न्यूज /हरियाणा /हरियाणाः फरीदाबाद निजी हॉस्पिटल के वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट उतरे 4 सफाईकर्मियों की जहरीली गैस से मौत

हरियाणाः फरीदाबाद निजी हॉस्पिटल के वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट उतरे 4 सफाईकर्मियों की जहरीली गैस से मौत

हरियाणा के फरीदाबाद के सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी हॉस्पिटल में दर्दनाक हादसा.

हरियाणा के फरीदाबाद के सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी हॉस्पिटल में दर्दनाक हादसा.

Haryana News: दशहरा के त्योहार पर चार कर्मचारियों की मौत से परिवार में मातम छा गया. इसमें दो सगे भाई थे. वहीं, दो लोग घ ...अधिक पढ़ें

फरीदाबाद. हरियाणा के फरीदाबाद के सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी हॉस्पिटल में उस समय दर्दनाक हादसा हो गया, जब हॉस्पिटल के ही प्रांगण में वाटर ट्रीटमेंट प्लांट की सफाई करने के लिए मजदूरों को बुलाया गया. जैसे ही 4 मजदूरों को सीवर के अंदर उतारा गया, चारों की जहरीली गैस की चपेट में आने से दर्दनाक मौत हो गई. मजदूरों के सहयोगियों ने जब तक चारों को सीवर से बाहर निकाला तब तक बहुत देर हो चुकी थी.

फिलहाल, चारों मजदूरों के शव को पोस्टमार्टम के लिए शहर के सामान्य अस्पताल में भिजवा दिया है. मृतकों की पहचान दक्षिणपुरी दिल्ली के संजय कैंप निवासी सगे भाई रोहित और रवि,  विशाल और रवि के रूप में हुई है. इनकी उम्र लगभग 25 से 30 वर्ष है। पुलिस जांच में सामने आया कि यह सफाई कर्मी संतुष्टि एलाइड सर्विसेज के लिए कार्य करते थे और सफाई के लिए हर माह अस्पताल आते थे. बुधवार अस्पताल के सेफ्टी टैंक की सफाई कर रहे थे. पहले दो युवक अंदर सफाई के लिए उतरे और गैस की वजह से बेहोश होने पर दूसरे दो युवक उन्हें बाहर निकालने के लिए जैसे ही अंदर उतरे वह भी बेहोश हो गए. बाद में चारों को फायर की टीम ने मृत निकाला.

दशहरा के त्योहार पर चार कर्मचारियों की मौत से परिवार में मातम छा गया. इसमें दो सगे भाई थे. वहीं, दो लोग घायलों में एक आईसीयू में भर्ती हैं. घटना की सूचना मिलते ही परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. परिजनों के नहीं पहुंचने के कारण बुधवार देर शाम तक किसी का पोस्टमार्टम नहीं हो सका था. महेंद्र सिंह, एसीपी सेंट्रल, ने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है.

अक्सर देखा गया है कि इस तरीके के हादसे आए दिन सामने आते रहते हैं, लेकिन इसके बावजूद ना तो जिला प्रशासन इस तरीके की लापरवाही बरतने वाले संस्थानों और ना ही ठेकेदारों के खिलाफ कोई सख्त एक्शन लेता है, क्योंकि शिविर के गंदे पानी के अंदर जाने से पहले मजदूर को पर्याप्त तरीके से सुरक्षा के उपकरण दिए जाने चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं होता है.

Tags: Haryana News Today, Haryana police

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें