• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • कृषि मंत्री जेपी दलाल का किसान नेताओं पर तंज, बोले- गन्ने का भाव बढ़ाने पर CM अमरिंदर का लड्डुओं से स्‍वागत, लेकिन...

कृषि मंत्री जेपी दलाल का किसान नेताओं पर तंज, बोले- गन्ने का भाव बढ़ाने पर CM अमरिंदर का लड्डुओं से स्‍वागत, लेकिन...

हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल ने किसानों को लेकर बड़ा बयान दिया है.

हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल ने किसानों को लेकर बड़ा बयान दिया है.

Haryana News: हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल (Agriculture Minister JP Dalal) ने किसानों को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्‍होंने कहा कि किसान नेता गन्ने का भाव (Sugarcane Price) 360 रुपये प्रति क्विंटल करने पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh)को लड्डू खिलाकर स्‍वागत करते हैं, लेकिन हरियाणा में देश में सबसे अधिक गन्ने का भाव होने के बाद भी वह हमारे सीएम से नाराज हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    फरीदाबाद. केंद्र सरकार के तीन नये कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों का आंदोलन (Kisan Aandolan) पिछले 10 महीनों से जारी है और किसान कृषि कानूनों को रद्द करवाने के साथ-साथ एमएसपी गारंटी की मांग कर रहे हैं. इस बीच हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल (Agriculture Minister JP Dalal) ने बड़ा बयान दिया है. उन्‍होंने कहा कि पंजाब में पिछले 4 साल से गन्ने का भाव (Sugarcane Price) 310 रुपये प्रति क्विंटल था. चुनाव आए हैं तो उन्होंने 50 रुपये बढ़ाकर 360 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया. किसान पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) को लड्डू खिलाकर आए हैं. जबकि हरियाणा में 350 रुपये प्रति क्विंटल था और हम इसे 362 रुपये प्रति क्विंटल करते हैं, लेकिन फिर भी किसान नाराज हैं.

    इसके अलावा जेपी दलाल ने कहा कि हरियाण में गन्ने का भाव देश में सबसे अधिक है. किसान नेताओं से प्रार्थना है कि जिस तरह से पंजाब के मुख्यमंत्री को लड्डू खिलाकर गए, तो शालीनता दिखाते हुए उनका हमारे मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ( Chief Minister Manohar Lal Khattar) को भी लड्डू खिलाने का दायित्व बनता है.

    हमारे सीएम को भी खिलाएं लड्डू
    इसके अलावा हरियाणा के कृषि मंत्री ने कहा कि गन्ना किसानों और गन्ना मिल की स्थिति, चीनी के भाव सहित कई विषयों पर चर्चा हुई. पिछले साल की सारे निजी और कोऑपरेटिव चीनी मिल की रिकवरी गन्ने की क्ववालिटी कमजोर रहने की वजह से 0.34 घटी है. इस बार रिकवरी पिछले साल के 10.58 से घटकर 10.24 आई है.

    EXPLAINED: आखिर क्‍यों IAS कैडर के पद पर IPS की नियुक्ति कर रही है हरियाणा सरकार? जानें विज के बयान का मतलब

    केंद्र सरकार ने बढ़ाई एमएसपी
    बता दें कि बुधवार को केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर (Narendera Singh Tomar) ने कई फसलों की एमएसपी को बढ़ा दिया है. सरकार ने गेहूं की एमएसपी को 40 रुपये बढ़ाकर 2015 रुपये , जौ की एमएसपी को 35 रुपये बढ़ाकर 1635 रुपये, चने की एमएसपी को 130 रुपये बढ़ाकर 5230 , मसूर और सरसों 400 रुपये और सूरजमुखी का भाव 114 रुपये बढ़ाया है. हालांकि इससे हरियाणा के किसान खुश नहीं हैं. किसानों का कहना है कि उन्हें यह बढ़ी हुई एमएसपी मंजूर नहीं, क्योंकि जितनी MSP बढ़ाई गई है उसका कोई फायदा नहीं होगा. वहीं किसानों ने यह भी कहा कि जब तक कृषि कानून रद्द नहीं हो जाते तब तक ये MSP उन्हें मंजूर नहीं. किसानों ने कहा कि केंद्र सरकार हमारे साथ मजाक कर रही है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज