कानपुर शूटआउट: हरियाणा पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, विकास दुबे का करीबी प्रभात उर्फ कार्तिकेय गिरफ्तार

File photo.

Kanpur Encounter: मंगलवार देर रात तक छापेमारी कर पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार (Arrest) करने में सफलता हासिल की. कानपुर शूटआउट के मुख्‍य आरोपी विकास दुबे की लोकेशन भी फरीदाबाद में ही मिली थी.

  • Share this:
फरीदाबाद. उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) जिले में 8 पुलिसकर्मियों की शहादत मामले में हरियाणा पुलिस के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है. हरियाणा पुलिस (Haryana Police) ने इस मामले में फरीदाबाद से तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इन तीन आरोपियों में एक विकास दुबे का खास और इस हत्याकांड में नामजद बताया जा रहा है. सूत्रों की मानें तो पुलिस ने जिस ओयो होटल पर छापा मारा था, उसी में ये आरोपी रुके हुए थे. पुलिस के आने से पहले ये वहां से निकलने में कामयाब हुए थे.

पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से चार पिस्तौल और 50 कारतूस बरामद किए हैं. इनमें दो पिस्तौल उत्तर प्रदेश पुलिस के मारे गए सिपाहियों की है. आरोपियों में से एक उत्तर प्रदेश हत्याकांड में शामिल विकास के बेहद करीबी प्रभात उर्फ कार्तिकेय को भी गिरफ्तार किया गया है. पुलिसकर्मियों के हत्याकांड में कार्तिकेय शामिल रहा था. वहीं, फरीदाबाद के रहने वाले अंकुर और उनके पिता श्रवण को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने खेड़ी पुल थाना इलाके में छापा मारा था. जहां से विकास के ओयो रूम में रुके होने की जानकारी मिली थी. जब तक पुलिस को ही रूम में पहुंची तब तक विकास निकल चुका था. दोपहर में तीनों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया जाएगा.

विकास दुबे अभी तक फरार
इस हत्याकांड का मुख्य आरोपी विकास दुबे लगातार फरार चल रहा है. उसे अपने एनकाउंटर का शक है. बताया जा रहा है कि वह अपने वकीलों के माध्यम से कोर्ट में सरेंडर करने की फ़िराक में है. उसकी लास्ट लोकेशन फरीदाबाद में मिली थी, जब वह एक होटल में रुकने के लिए कमरा लेने पहुंचा. पुलिस के पहुंचने से पहले वह वहां से चला गया था. अब फरीदाबाद से उसके दो करीबियों को एसटीएफ ने हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है. पुलिस को शक है कि वह हरियाणा या दिल्ली के कोर्ट में सरेंडर करने की कोशिश में है.

विकास दुबे का करीबी अमर दुबे ढेर
बताया जा रहा है कि विकास दुबे का करीबी अमर दुबे भी उसके साथ फरीदाबाद में ही था, लेकिन एसटीएफ के दबाव में उसे वहां से भागना पड़ा. वह हमीरपुर के मौदहा स्थित अपने रिश्तेदार के यहां छिपने जा रहा था. एसटीएफ ने विकास दुबे के सभी करीबियों और रिश्तेदारों के यहां नजर बना रखी थी. जब पुलिस और एसटीएफ ने उसे घेरा तो उसने तमंचे से फायरिंग शुरू कर दी, जिसके बाद जवाबी फायरिंग में वह ढेर हो गया.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.