Assembly Banner 2021

International Women Day: पहले डॉक्टर और फिर IPS बन महिलाओं को न्याय दिलाने में जुटी हैं DCP डॉ. अंशु सिंगला

डॉ. अंशु सिंगला इन दिनों मातृत्व अवकाश पर हैं.

डॉ. अंशु सिंगला इन दिनों मातृत्व अवकाश पर हैं.

International Women Day Special: दहेज की वजह से एक विवाहिता को जिंदा जलाने का मामला सामने आने के बाद डॉ. अंशु सिंगला ने IPS बनने के किया फैसला. फरीदाबाद में डीसीपी हेडक्वार्टर के पद पर तैनात डॉ. अंशु इन दिनों मातृत्व अवकाश पर हैं.

  • Share this:
फरीदाबाद. पूरी दुनिया आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मना रही है. ऐसे में हम फरीदाबाद (Faridabad) में डीसीपी हेड क्वार्टर के पद पर तैनात डॉ अंशु सिंगला (Doctor Anshu Singla) के पास पहुंचे. अंशु सिंगला इन दिनों मातृत्व अवकाश पर हैं. हमने उनसे जानने की कोशिश की कि वह किस तरह से महिला दिवस मना रही है.

डॉ अंशु सिंगला एक ऐसी महिला हैं जो पहले डॉक्टर बनी और उसके बाद एक हादसे ने उन्हें आईपीएस बनने का जुनून दे दिया. इसी जुनून में उन्होंने आईपीएस किया और फिर एक दूसरे आईपीएस अर्पित जैन से शादी की. महिला दिवस के मौके पर डॉ. अंशु सिंगला ने एक डॉक्टर से पुलिस अधिकारी बनने की अपनी कहानी न्यूज 18 के साथ साझा की.

डॉ अंशु सिंगला और अर्पित जैन यानी दोनों पति पत्नी पुलिस में है. उनकी ड्यूटी के घंटे आमतौर पर फिक्स नहीं होते है. ऐसे में हमने उनसे जानने की कोशिश की कि दोनों पति-पत्नी जब पुलिस में है तो किस तरह परिवार को मैनेज कर पाते हैं और आखिर किस तरह उनके बीच में सामंजस्य बैठता है. डॉ अंशु सिंगला इसका पूरा क्रेडिट अपने पति और परिवार को देती हैंं, जो उन्हें हर स्थिति में पूरा सहयोग करते हैं.



Youtube Video

डॉक्टर से इसलिए बनी आईपीएस
अंशु सिंगला के मुताबिक जब ववे डॉक्टर थीं तो एक ऐसा मामले सामने आया जब दहेज के चलते एक विवाहिता को जिंदा जला दिया गया, उसके बाद उन्हें लगा कि लोगों की इस मानसिकता को बदलने के लिए उन्हें सिविल सर्विसेज में जाना चाहिए और फिर वे आईपीएस बनी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज