Home /News /haryana /

उमर खालिद पर बड़ा खुलासा, नक्‍सलियों के मददगार हेम मिश्रा से भी थे संबंध

उमर खालिद पर बड़ा खुलासा, नक्‍सलियों के मददगार हेम मिश्रा से भी थे संबंध

ये छात्र देशद्रोह के मामले में जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार की 12 फरवरी को गिरफ्तारी के बाद से लापता हो गए थे.

  • Pradesh18
  • Last Updated :
    जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में देशविरोधी नारे लगाने के आरोपी उमर खालिद और अनिरबन भट्टाचार्य ने मंगलवार रात विश्वविद्यालय कैंपस से बाहर आकर पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया. वहीं अन्य तीन आरोपी छात्र आशुतोष कुमार, रामा नागा, अनंत प्रकाश ने अभी सरेंडर नहीं किया है.

    सरेंडर के दौरान एडमिनिस्ट्रेटिव ब्लॉक से जेएनयू के मेन गेट तक उमर खालिद और अनिरबन भट्टाचार्य के साथ छात्र, शिक्षक और निजी सुरक्षाकर्मियों की भारी भीड़ थी.

    ये छात्र देशद्रोह के मामले में जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार की 12 फरवरी को गिरफ्तारी के बाद से लापता हो गए थे. रविवार देर रात को ये पांचों छात्र जेएनयू कैंपस में लौटे थे.

    देर रात उमर खालिद और अनिर्बन भट्टाचार्य जेएनयू कैंपस के मेन गेट से बाहर निकले. इनके बाहर निकलने से पहले छात्र सुरक्षा घेरा बनाकर खड़े हो गए थे. छात्रों ने मौके पर मौजूद मीडियाकर्मियों से भी धक्‍का-मुक्‍की की.

    सरेंडर करने के बाद पुलिस दोनों आरोपियों को आरकेपुरम थाने ले गई. इसके बाद घंटों तक दोनों से पूछताछ की गई. दोनों छात्रों से पूछताछ के लिए रातभर पुलिस के आला अधिकारी आरकेपुरम थाने पहुंचते रहे. पूछताछ के बाद पुलिस ने दोनों का मेडिकल कराया. पुलिस खालिद और अनिरबन को आज पटियाला हाउस कोर्ट में पेश करेगी.

    संयुक्त पुलिस आयुक्त आर.एस. कृष्णैया ने बताया कि देशद्रोह के आरोपी दोनों छात्रों को धारा 124ए के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है.

    हेम मिश्रा से भी मिला था उमर खालिद

    वहीं, अब महाराष्‍ट्र के एक आईजी ने यह खुलासा किया है कि नागपुर जेल से रिहा होने के बाद उमर खालिद हेम मिश्रा से भी मिला था. हेम मिश्रा प्रोफेसर जीएन साईंबाबा के लिए नक्‍सलियों के कुरियर के रूप में काम करता है.

    गौरतलब है कि मंगलवार को खालिद को कोई राहत नहीं देते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने यह साफ कर दिया था कि उसकी गिरफ्तारी पर कोई रोक नहीं है. साथ ही दोनों आरोपियों को सभी कानूनी प्रक्रियाओं का पालन करना पड़ेगा.

    खालिद के सरेंडर के बाद जेएनयू छात्रसंघ की उपाध्‍यक्ष शहला रशीद ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की. साथ ही उन्‍होंने कहा कि जेएनयू के सभी छात्र जांच में पुलिस की पूरी मदद करेंगे. सरेंडर की बात पहले इसलिए नहीं बताई गई क्‍योंकि दोनों छात्रों पर हमले की आशंका थी. उन्‍होंने मीडियाकर्मियों से अपील की कि वे छात्रों के बारे में गलत सूचना प्रचारित न करें.

    न्‍यूज चैनल की फुटेज पर टिकी दिल्‍ली पुलिस की जांच

    दिल्‍ली पुलिस की ओर से कमिश्‍नर बी.एस. बस्‍सी को दी गई रिपोर्ट में जेएनयूएसयू अध्‍यक्ष कन्‍हैया कुमार के खिलाफ देशद्रोह के आरोप के पक्ष में चार बिंदुओं पर जोर दिया है. इसमें एक निजी टीवी न्‍यूज चैनल से ली गई फुटेज सबसे अहम सबूत है. अब इसके बारे में कहा जा रहा है कि इससे छेड़छाड़ की गई थी. जानकारी के अनुसार, पुलिस की ओर तैयार की गई रिपोर्ट में जेएनयू में लगाए गए उन सभी देशविरोधी नारों का जिक्र किया गया है. हालांकि इसमें 'पाकिस्‍तान जिंदाबाद' का जिक्र नहीं है.

     

     

    Tags: DELHI HIGH COURT, Jnu

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर