प्रॉपर्टी विवाद के चलते जहर खाकर दी जान, सुसाइड नोट में कही अंग दान करने की बात
Faridabad News in Hindi

प्रॉपर्टी विवाद के चलते जहर खाकर दी जान, सुसाइड नोट में कही अंग दान करने की बात
सांकेतिक चित्र

यह सारा मामला जमीनी विवाद से जुड़ा हुआ है जिसमे मृतक अनिल कुमार का अपने चचेरे भाई राजेश गर्ग से विवाद था.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
फरीदाबाद में बीजेपी के हरियाणा प्रभारी एवं राज्यसभा सांसद की भांजी और उसके पति पर आत्महत्या के लिए प्रताड़ित करने का मुकदमा दर्ज हुआ है. मृतक ने अपने सुसाइड नोट में अपने चचेरे भाई और उसकी पत्नी पर डॉ अनिल जैन के नाम पर धमकाने का आरोप लगाया है. वहीं मृतक ने सुसाइड नोट में अंगदान करने की बात भी कही है. उसने लिखा है कि मेरे शरीर के अंग दान कर दिए जाएं. फिलहाल पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

दरअसल यह सारा मामला जमीनी विवाद से जुड़ा हुआ है जिसमे मृतक अनिल कुमार का अपने चचेरे भाई राजेश गर्ग से विवाद था. आरोप है कि राजेश और अंशु आये दिन बीजेपी के हरियाणा प्रभारी और राज्य सभा सांसद डॉ अनिल जैन की धौंस देते थे और इसी के चलते मृतक के बेटे पर मारपीट का मुकदमा भी दर्ज करवा दिया गया था. मृतक अनिल के बेटे गौरव गर्ग ने आरोप लगाया कि कुछ समय पहले राजेश और अंशु ने नगर निगम के अधिकारियों से मिलकर कोर्ट के स्टे आर्डर के बावजूद उनकी बिल्डिंग तुड़वा दी थी.

अनियंत्रित होकर पलटी कार में लगी आग, एक शख्स जिंदा जला



इसके अलावा उनकी दुकान के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे हटवा दिए थे. गौरव ने आरोप लगाया कि दो एचसीएस अधिकारियों अमरदीप जैन और राजेश कुमार ने भी उन्हें धमकी दी कि उनके ऊपर डॉ अनिल जैन का दबाव है, इसलिए तुम अंशु जैन से समझौता कर लो वरना जो दुकान बची है वह भी तोड़ दी जाएगी. फिलहाल गौरव अपने पिता की मौत के बाद इंसाफ मांग रहे हैं.



फिलहाल पुलिस ने आरोपी राजेश गर्ग और अंशु गर्ग के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है और जांच की बात कह रही है.
First published: October 19, 2018, 11:37 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading