Home /News /haryana /

martyr manoj bhati in terrorist attack funeral in shahjahanpur village with state honors nodelsp

8 माह की गर्भवती पत्नी को था इंतजार..और पति आतंकी हमले में शहीद, राजकीय सम्मान के बीच छलकती आंखों से विदाई

बल्लभगढ़ के अंबेडकर चौक से मनोज भाटी की अंतिम यात्रा निकली गई जो उनके पैतृक गांव शाहजहांपुर पहुंची और उनके गांव के पार्क में ही उन्हें पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई.

बल्लभगढ़ के अंबेडकर चौक से मनोज भाटी की अंतिम यात्रा निकली गई जो उनके पैतृक गांव शाहजहांपुर पहुंची और उनके गांव के पार्क में ही उन्हें पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई.

Martyr Manoj Bhati: जम्मू के राजौरी में हुए सेना के बेस कैंप पर आतंकी हमले में शहीद हुए जवान मनोज भाटी का पार्थिव शरीर फरीदाबाद पहुंचा. शहीद की अंतिम यात्रा में फरीदाबाद और आसपास के हजारों की संख्या में लोग शामिल हुए. उन्होंने देश के लिए रक्षाबंधन के ठीक पहले शहादत दी तो उनके गांव में त्योहार फीका पड़ गया. शहीद मनोज अपने पीछे अपनी पत्नी को छोड़ गए हैं जो 8 माह के गर्भ से हैं. उनके भाई भी सेना में हैं.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

नेता, मंत्री और अफसर पहुंचे शहीद को नमन करने, हजारों ने दी अंतिम विदाई
शहीद मनोज भाटी के बड़े भाई भी सेना में, पत्नी हैं गर्भवती

अनिल कुमार राठी

फरीदाबाद. जम्मू के राजौरी में सेना के बेस कैंप पर हुए आतंकी हमले में शहीद हुए जवान मनोज भाटी का पार्थिव शरीर फरीदाबाद पहुंचा. शहीद की अंतिम यात्रा में फरीदाबाद और आसपास के हजारों की संख्या में लोग शामिल हुए. इस दौरान सभी ने अपने हाथों में देश का राष्ट्रीय ध्वज लिया हुआ था और देश भक्ति के नारे लगा रहे थे.

बता दें कि बल्लभगढ़ के अंबेडकर चौक से मनोज भाटी की अंतिम यात्रा निकली गई जो उनके पैतृक गांव शाहजहांपुर पहुंची और उनके गांव के पार्क में ही उन्हें पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई. इस मौके पर केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, कैबिनेट मंत्री मूलचंद शर्मा, जिला अध्यक्ष गोपाल शर्मा, पूर्व विधायक टेकचंद शर्मा, विधायक नैनपाल रावत, विधायक राजेश नागर सहित तमाम फरीदाबाद के आला अधिकारियों ने शिरकत की और शाहिद मनोज भाटी को अंतिम विदाई देते हुए परिवार को ढांढस बंधाया.

शहीद मनोज भाटी के बड़े भाई भी सेना में, पत्नी हैं गर्भवती

मनोज भाटी के बड़े भाई भी सेना में ही हैं. मनोज की पत्नी अभी 8 महीने गर्भवती हैं, उनके घर में कुछ ही दिनों में खुशियों की किलकारियां गूंजनी थीं, लेकिन समय को कुछ और ही मंजूर था कि उनके घर में आने वाली खुशियों को किसी की नजर लग गई. वह ठीक रक्षा बंधन से पहले मनोज आतंकियों से लोहा लेते हुए देश के लिए शहीद हो गए. इससे उनके परिवार और गांव में मातम छा गया.

नेता, मंत्री और अफसर पहुंचे शहीद को नमन करने, हजारों ने दी अंतिम विदाई
इस मौके पर जिले के तमाम अधिकारियों सहित केंद्र राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर, कैबिनेट मंत्री मूलचंद शर्मा से लेकर तमाम जिले के नेतागण मौजूद रहे. इस मौके पर शहीद मनोज भाटी को पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई. वहीं इस मौके पर कैबिनेट मंत्री मूलचंद शर्मा, जिला अध्यक्ष गोपाल शर्मा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मां भारती की आन बान शान और अपने साथियों की रक्षा करते हुए अपने कर्तव्यों का पालन करते हुए मनोज भाटी ने अपने प्राणों की आहुति दे दी जिस पर सभी को गर्व है, लेकिन उन्हें उनके जाने का दुःख भी है. वहीं उन्होंने कहा कि उनके इस शहादत के लिए हम उनको सदैव नमन करते रहेंगे.

Tags: Faridabad News, Haryana news, Jawan martyr

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर