निकिता मर्डर केस: SIT कोर्ट में आज पेश कर सकती है चार्जशीट, चश्‍मदीद सहेली का बयान अहम

निकिता मर्डर केस: परिवार की सुरक्षा को लेकर पुलिस बेहद गंभीर.
निकिता मर्डर केस: परिवार की सुरक्षा को लेकर पुलिस बेहद गंभीर.

Nikita Tomar Murder Case: सूत्रों के मुताबिक, चार्जशीट में 70 गवाह रखे गए हैं, जिनमें तीन चश्मदीद हैं. इसके अलावा कई फॉरेंसिक साक्ष्‍य भी हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2020, 12:07 PM IST
  • Share this:
फरीदाबाद. निकिता तोमर हत्याकांड मामले में फरीदाबाद पुलिस (Faridabad Police) की SIT ने चार्जशीट तैयार कर ली है. सम्भवतः गुरुवार को चार्जशीट कोर्ट में दाखिल कर दी जाएगी. हरियाणा पुलिस के टॉप लेवल के अधिकारियों के मुताबिक, तीनों मुख्य आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की जाएगी. इस मामले में मुख्य आरोपी तौसीफ है. बाकी आरोपी रेहान और अजरू हैं. आरोपपत्र में घटना में इस्तेमाल हथियार, गवाहों के बयान, सीसीटीवी फुटेज, चश्मदीदों के बयान, फॉरेंसिक रिपोर्ट और पोस्टमार्टम रिपोर्ट को शामिल किया गया है. साथ ही सबसे अहम है निकिता की उस सहेली का बयान, जिनके सामने निकिता को गोली मारी गई थी. बता दें कि 26 अक्टूबर को बल्लबगढ़ में छात्रा निकिता की सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

एसआईटी द्वारा बेशक बृहस्पतिवार को चार्जशीट अदालत में पेश करने की बात कही जा रही हो, लेकिन अगर एनआईए के पूर्व आईजी इसका अवलोकन करते हैं तो निश्चित ही वह इसके लिए एक से दो दिन का समय ले सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक, चार्जशीट में 70 गवाह रखे गए हैं, जिनमें तीन चश्मदीद हैं. बाकी निकिता के परिजन, डॉक्टर, फॉरेंसिक एक्सपर्ट, फोटोग्राफर सहित अन्य गवाह हैं. चार्जशीट में सीसीटीवी फुटेज के अलावा कई फॉरेंसिक और परिस्थितिजन्य सुबूत शामिल किए गए हैं.

2018 के अपहरण मामले में पिता का बयान दर्ज
2018 में निकिता के अपहरण मामले की फाइल भी अब खोली जा चुकी है. उस मामले में निकिता के परिजनों की तरफ से अदालत में हलफनामा दिए जाने के बाद केस निपट गया था. परिवार वालों ने कहा है कि उनके ऊपर दबाव डालकर हलफनामा लिखवाया गया था. ऐसे में पुलिस ने अदालत से मंजूरी लेकर 2018 के मामले की जांच नए सिरे से शुरू कर दी है. बुधवार को एसआईटी ने उस मामले में निकिता के पिता मूलचंद तोमर के बयान दर्ज किए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज