बच्‍चे को निकालने की धमकी पड़ी भारी, स्‍कूल के खिलाफ PMO ने दिए जांच के आदेश

बच्‍चे को स्‍कूल से निकालने की धमकी के बाद पीएमओ ने स्‍कूल के खिलाफ दिए जांच के आदेश. सांकेतिक तस्‍वीर.
बच्‍चे को स्‍कूल से निकालने की धमकी के बाद पीएमओ ने स्‍कूल के खिलाफ दिए जांच के आदेश. सांकेतिक तस्‍वीर.

कुछ दिन पहले मॉडर्न डीपीएस (MDPS) के डायरेक्टर यूएस वर्मा द्वारा अपने अभिभावक को धमकी देने का एक वीडियो अभिभावक एकता मंच ने प्रधानमंत्री को ट्वीट किया था. जिसके बाद इस ट्वीट पर संज्ञान लेते हुए पीएमओ (PMO) ने वीडियो की जांच करने और स्‍कूल के खिलाफ एक्‍शन लेने के लिए हरियाणा सरकार (Haryana Government) को निर्देश दिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2020, 6:55 PM IST
  • Share this:
फरीदाबाद. हरियाणा के फरीदाबाद में एक प्राइवेट स्‍कूल का अभिभावक को धमकी देना भारी पड़ गया. अभिभावकों की शिकायत पर एक्‍शन लेते हुए मॉडर्न डीपीएस फरीदाबाद के खिलाफ पीएमओ ने जांच के आदेश दिए हैं. जिसके बाद हरियाणा सरकार ने एचसीएस ऑफिसर दिनेश यादव को जांच अधिकारी बना कर तय समय मेंं एक्शन टेकन रिपोर्ट देने का आदेश दिया है.

कुछ दिन पहले मॉडर्न डीपीएस के डायरेक्टर यूएस वर्मा द्वारा अपने अभिभावक को धमकी देने का एक वीडियो अभिभावक एकता मंच ने प्रधानमंत्री को ट्वीट किया था. जिसके बाद इस ट्वीट पर संज्ञान लेते हुए पीएमओ ने वीडियो की जांच करने और स्‍कूल के खिलाफ एक्‍शन लेने के लिए  हरियाणा सरकार को निर्देश दिए.

अभिभावक एकता मंच के प्रदेश महासचिव कैलाश शर्मा और जिला सचिव डॉ. मनोज शर्मा ने बताया कि 3 दिन पहले एक अभिभावक ने मॉडर्न डीपीएस स्‍कूल में मांगी जा रही ट्रांसपोर्ट फीस, एनुअल चार्ज व बढ़ाई गई ट्यूशन फीस देने का विरोध किया था. जिस पर वहां के डायरेक्‍टर ने अभिभावक को सजा देने की धमकी दी और बढ़ी फीस लेने के पक्ष में तर्क दिए. इसके साथ ही फीस जमा न करने पर बच्‍चे को स्‍कूल से निकालने की धमकी भी दी.




इसके बाद मंच ने इस बातचीत का वीडियो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्वीट कर न्‍याय की मांग की थी. इस वीडियो को कई अभिभावकों ने भी रीट्वीट किया था. जिसके बाद पीएमओ ने इस पर कदम उठाया. कैलाश शर्मा का कहना है कि सभी एकजुट व जागरूक होकर के पहले की तरह ही प्राइवेट स्कूलों की प्रत्येक मनमानी का बिना किसी डर के खुलकर विरोध करें और किसी भी समस्या के लिए मंच से संपर्क करें मंच उनकी पूरी मदद करेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज