हरियाणा: निजी अस्पताल की लापरवाही, परिजनों को पुरुष की जगह थमाया 80 साल की महिला का शव
Faridabad News in Hindi

हरियाणा: निजी अस्पताल की लापरवाही, परिजनों को पुरुष की जगह थमाया 80 साल की महिला का शव
पुरुष की जगह अस्पताल ने थमाया महिला का शव

परिजनों ने जैसे ही मृतक का चेहरा देखा तो उनके होश उड़ गए क्योंकि परिजन जिस डेड बॉडी (Dead Body) को दाह संस्कार के लिए लेकर आए थे, वह एक 80 वर्षीय महिला (Old Lady) की निकली.

  • Share this:
फरीदाबाद. हरियाणा के फरीदाबाद (Faridabad) जिले के एक निजी हॉस्पिटल की बड़ी लापरवाही सामने आई है. इलाज के दौरान एक व्यक्ति की मौत के बाद उनके परिजनों को महिला की डेड बॉडी (Dead Body) सौंप दी गई. मामले का खुलासा उस वक्त हुआ जब परिजन दाह संस्कार के लिए श्मशान घाट पहुंचे. परिजनों ने जैसे ही मृतक का चेहरा देखा तो उनके होश उड़ गए, क्योंकि परिजन जिस डेड बॉडी को अपनी समझ कर दाह संस्कार के लिए ले कर आए थे, वह एक 80 वर्षीय महिला की थी.

इस बात की सूचना जब एशियन हॉस्पिटल को दी गई तो हॉस्पिटल की तरफ से तुरंत दूसरी एंबुलेंस में संबंधित व्‍यक्ति के शव को श्मशान घाट भिजवाया गया और महिला के शव को वहां से हॉस्पिटल वाले वापस ले गए. परिजनों का आरोप है कि हॉस्पिटल मैनेजमेंट उन्हें शिकायत न करने के लिए डरा धमका रहा है.

मामले की जांच की जा रही
घटना की सूचना पाकर पुलिस भी श्‍मशान घाट पहुंच गई और परिजनों को डेडबॉडी सौंपकर कर जांच शुरू कर दी है. वहीं, अस्पताल प्रबंधन इस पूरे मामले में कैमरे पर तो कुछ कहने के लिए तैयार नहीं है, लेकिन उनके मुताबिक अस्पताल के कर्मचारी से लापरवाही हुई है जिसकी वह जांच कर रहे हैं.
पुलिस ने कही ये बात


सराय ख्वाजा थाना प्रभारी नरेश कुमार ने बताया कि अस्पताल कर्मचारियों की गलती की वजह से शव बदल गए थे. समय रहते इस गलती के बारे में पता चलने पर दोनों पक्षों को उनके परिजन का शव दे दिया गया. मामले में अभी तक किसी भी पक्ष ने लिखित शिकायत नहीं दी है. कोई लिखित शिकायत देता है तो पुलिस मामला दर्ज कर कार्रवाई करेगी. बता दें कि पुलिस से जानकारी मिलने के बाद अस्पताल प्रशासन को अपने कर्मचारियों की गलती का पता चला. बाद में पुलिस की मौजूदगी में ही राजकिशोर का शव उसके परिजनों को और ऊषा का शव उसके परिजनों के सुपुर्द किया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज