यौन उत्पीड़न मामले में सरकारी कॉलेज का प्रोफेसर सस्पेंड

एसोसिएट प्रोफेसर समेत सभी तीन निलंबित कर्मियों पर आरोप है कि ये छात्राओं से उनके प्रवेश के वक्त दोस्ती बढ़ाते थे और फिर बाद में उन छात्राओं को यौन शोषण के लिए मजबूर किया करते थे.

News18 Haryana
Updated: May 17, 2019, 7:32 PM IST
यौन उत्पीड़न मामले में सरकारी कॉलेज का प्रोफेसर सस्पेंड
(सांकेतिक तस्वीर)
News18 Haryana
Updated: May 17, 2019, 7:32 PM IST
यौन शोषण के मामले में फरीदाबाद के एक सरकारी कॉलेज के एक एसोसिएट प्रोफेसर को सस्पेंड कर दिया गया है. साथ ही इसी मामले में अन्य दो कर्मचारियों को भी निलंबित किया गया है. हरियाणा के उच्च शिक्षा विभाग ने यह कार्रवाई की है. इस बारे में संबंधित अधिकारियों ने बताया कि एसोसिएट प्रोफेसर के साथ एक जूनियर लैब अटेंडेंट एवं एक चपरासी को भी निलंबित किया गया है. अब इन तीनों आरोपियों पर लगाए गए यौन शोषण मामले की जांच एक समिति करेगी.

एसोसिएट प्रोफेसर समेत सभी तीन आरोपियों के बारे में कहा जा रहा है कि ये छात्राओं को उनके प्रवेश


के वक्त उनसे दोस्ती बढ़ाते थे और फिर बाद में उन छात्राओं को यौन शोषण के लिए मजबूर किया करते थे. ये उन छात्राओं को ही इसके लिए मजबूर करते थे जिन्हें दोबारा परीक्षा देनी पड़ती थी. ऐसी छात्राओं को तीनों आरोपी फांसने की कोशिश करते थे, उन्हें यौन शोषण के लिए मजबूर करते थे. ये आरोपी बदले में छात्राओं को हर संभव मदद करने का भरोसा देते थे.

बता दें कि इस हरकत का तब पता चला जब शिकायतकर्ता ने लैबोरेटरी असिस्टेंट के साथ हुई बातचीत को रिकॉर्ड कर ली और उसे कॉलेज के प्रिंसिपल को सुना दिया. इस मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं कैथल से विधायक रणदीप सिंह सुरजेवाला ने दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है. उन्होंने प्रदेश की बीजेपी सरकार पर हमला करते हुए अपने ट्वीट में लिखा कि बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ महज एक जुमला है.

ये भी पढ़ें - 500 में से 497 अंक लेकर 4 छात्र रहे पहले स्थान पर

ये भी पढ़ें - HBSE Board 10th result: लड़कियों ने मारी बाजी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार