लाइव टीवी

फरीदाबाद: अस्पताल में डिलीवरी के लिए आई महिलाओं से बधाई के नाम पर हजारों रुपए मांगने का खेला जा रहा खेल, ऐसे खुली पोल
Faridabad News in Hindi

deepak kumar | News18 Haryana
Updated: February 12, 2020, 12:15 PM IST
फरीदाबाद: अस्पताल में डिलीवरी के लिए आई महिलाओं से बधाई के नाम पर हजारों रुपए मांगने का खेला जा रहा खेल, ऐसे खुली पोल
अस्पताल में मरीजों से वसूले जा रहे पैसे

सरकार (government) भले ही जच्चा और बच्चा को हर तरह की मुफ्त सुविधाएं प्रदान करने का दावा करती है लेकिन उनके इस दावे को अस्पताल (Hospital) का स्टाफ पलीता लगा रहा है.

  • Share this:
फरीदाबाद. जिले के सबसे बड़े सिविल अस्पताल (Civil Hospital) बादशाह खान  में डिलीवरी के लिए आई महिलाओं से बधाई के नाम पर हजारों रुपए मांगने का खेला जा रहा है. इसका खुलासा तब हुआ जब नवनियुक्त सिविल सर्जन कृष्ण कुमार ने अस्पताल का औचक निरीक्षण (Surprise Check) किया. सरकार भले ही जच्चा और बच्चा को हर तरह की मुफ्त सुविधाएं प्रदान करने का दावा करती है लेकिन उनके इस दावे को अस्पताल का स्टाफ पलीता लगा रहा है.

यह हम नहीं कह रहे यह तो अस्पताल में भर्ती जच्चा खुद ही कह रही है. शिकायत मिलने पर सीएम कृष्ण कुमार ने जांच के बाद उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है. बता दे कि जब अस्पताल में कोई गर्भवती महिला बच्चे को जन्म देती है तो अस्पताल की स्टाफ नर्स तो उनसे जबरन बधाई लेती ही है.

वहीं डॉक्टर को बधाई देने के नाम पर भी मोटी रकम की वसूली की जाती है. तो वहीं सफाई कर्मचारी से लेकर सिक्योरिटी गार्ड तक उनसे बधाई के नाम पर जबरन वसूली करते हैं. ऐसा ही मामला जब सामने आया जब देर रात फरीदाबाद में तैनात नवनियुक्त सीएमओ कृष्ण कुमार ने अस्पताल का औचक निरीक्षण किया.

सीएमओ ने किया औचक निरीक्षण

उनके औचक निरीक्षण करने से अस्पताल में हड़कंप मच गया. इस दौरान कृष्ण कुमार ने स्टाफ को ड्यूटी पर वर्दी और नेम प्लेट के साथ रहने के निर्देश दिए और उन्होंने अस्पताल की मशीनों को भी अपने सामने चेक कराया कि वह चालू है या खराब पड़ी है. अस्पताल में रखी मशीनें तो चालू मिली लेकिन जब वह गायनी वार्ड में पहुंचे और वहां जच्चा-बच्चा वार्ड में भर्ती महिलाओं से उनका हालचाल पूछा तो वहां पर जच्चा-बच्चा वार्ड में तैनात स्टाफ का सिस्टम खराब मिला.

सीएमओ के सामने महिलाओं ने की शिकायत

अस्पताल में भर्ती महिलाओं ने सीएमओ साहब के सामने ही कह दिया कि उनसे बधाई के नाम पर मोटी मोटी रकम वसूली जाती है. एक ने कहा की उनसे बधाई के नाम पर 1300 तो एक ने कहा की उनसे बधाई के नाम पर 1700 रुपये लिए गए है. 1000 या 500 रुपये देने वाली तो कई महिलाएं सामने आई तो कुछ ने डर की वजह से अपनी खुशी से बधाई देने की बात कही. वहीं इस मामले के सामने आने  पर सीएमओ साहब ने तुरंत जांच के आदेश दिए और कहा कि जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी.ये भी पढ़ें- मंत्रियों के लिए 10 नई फॉर्च्यूनर गाड़ियां खरीदेगी हरियाणा सरकार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फरीदाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 12:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर