खबर का असर: अरावली के गुनहगारों पर एक्शन, अवैध फार्म हाउस को किया जा रहा जमींदोज

अपने शौक और आराम के लिए अरावली का सीना चीरने वालों पर बड़ा एक्शन हुआ है.

दिल्ली एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण के बीच अरावली का ये इलाका ही है जो साफ-सुथरी हवा मुहैया करवा पा रहा है. इसलिए एनजीटी की तरफ से बार-बार इसे सहेज कर रखने के आदेश दिए जाते रहे हैं. बावजूद इसके मुनाफाखोरों और रसूखदारों की नज़र हमेशा से इस पर रही है. खुद के आराम के लिए न जाने कितनी ही बार अरावली का सीना चीरा गया.

  • Share this:
गुरुग्राम. गुरुग्राम में न्यूज़18 की खबर का बड़ा असर हुआ है अपने शौक और आराम के लिए अरावली का सीना चीरने वालों पर बड़ा एक्शन हुआ है. प्रशासन ने अवैध तरीके से बने और बन रहे फार्म हाउस (Farm House) तोड़ना शुरू कर दिया है. सोहना जिला परिषद ने अरावली की 40 ऐसे फार्म हाउस संचालकों को नोटिस जारी कर जवाब तलब करने को कहा था. लेकिन बावजूद इसके अवैध कंस्ट्रक्शन (Illegal Construction) का काला कारोबार लगातार जारी था. जिसके बाद सोहना जिला परिषद और तमाम प्रशासनिक अमले ने आज दो दर्जन से ज्यादा स्ट्रक्चर को जमींदोज कर भू माफियाओं को एक कड़ी चेतावनी जरूर जारी कर संदेश दिया किकोई भी कानून के विरुद्ध जाकर अवैध कंस्ट्रक्शन करने का काम करेगा उसके साथ भी यही स्थिति अमल में लाई जाएगी.

हालांकि अरावली में कुछ ऐसी आराम गाह भी मौजूद थी जहां पर जिला प्रशासन की कार्रवाई शुरू होते ही अधिकारियों के फोन घनघनाने लगे जिसके बाद मीडिया के कैमरों के सामने ही अधिकारियों को बैरंग लौटने पर मजबूर होना पड़ा.

सुप्रीम कोर्ट और NGT के आदेशों को किया दरकिनार

नगर परिषद की टीम ने ज्यादातर उन फार्म हाउसों पर पिला पंजा चलाया जिनकी सिर्फ दीवारें खड़ी थी. लेकिन टीम आज उन फार्म हाउसों तक नही पहुंची जिनके निर्माण की तस्वीर न्यूज़18 ने 17 जून को दिखाई थी. अब बड़ा सवाल अभी भी ये ही है कि जो सुप्रीम कोर्ट और NGT के आदेशों को दरकिनार कर नए फार्म हाउस बनाये जा रहे है उनका नंबर कब आएगा.

500 के करीब ऐसे अवैध फार्महाउस मौजूद

बता दें कि इस इलाके में 500 के करीब ऐसे अवैध फार्महाउस मौजूद हैं जिन्हें सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मलबे में तब्दील करने का प्लान इसी साल जनवरी में तैयार किया गया था. लेकिन कोरोना की वजह से गुरुग्राम प्रशासन अपने प्लान को अमल में नहीं ला पाया और इसी का फायदा उठाते हुए कुछ और रसूखदार मिलीभगत के साथ अपने फार्म हाउस खड़े करने लगे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.