108 नंबर पर नहीं हुआ संपर्क, थ्री-व्हीलर में लाना पड़ा मरीज, रास्ते में ही दम तोड़ा

108 एंबुलेंस
108 एंबुलेंस

फतेहाबाद के सरकारी अस्पताल के एंबुलेंस कंट्रोल रूम का टोल फ्री नंबर 108 नंबर इन दिनों काम नहीं कर रहा है. मात्र एकाध नेटवर्क को छोड़ किसी भी नेटवर्क से इस नंबर पर कॉल नहीं लग रही, मगर प्रशासन है कि इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा.

  • Share this:
हरियाणा स्वास्थ्य विभाग स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर भले ही कितने दावे कर ले मगर फतेहाबाद में इन दावों की पोल खोलती एक ऐसी तस्वीर सामने आई जिसे देखकर आप भी हैरान और परेशान हो जाएंगे. क्या कोई यकीन कर सकता है कि स्वास्थ्य विभाग के पास दर्जनभर से अधिक एंबुलेंस खड़ी हो और कोई एंबुलेंस के अभाव में दम तोड़ जाए. ऐसा ही हुआ फतेहाबाद में. एंबुलेंस सर्विस समय पर न मिल पाने के कारण इलाज के अभाव में यहां एक व्यक्ति ने दम तोड़ दिया.

दरअसल फतेहाबाद के सरकारी अस्पताल के एंबुलेंस कंट्रोल रूम का टोल फ्री नंबर 108 नंबर इन दिनों काम नहीं कर रहा है. मात्र एकाध नेटवर्क को छोड़ किसी भी नेटवर्क से इस नंबर पर कॉल नहीं लग रही, मगर प्रशासन है कि इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा. प्रशासन के इस लापरवाह रवैये के कारण एक युवक को अपनी जान देनी पड़ी.

स्वामी नगर निवासी मृतक युवक के पड़ोसियों का आरोप है कि वे बार-बार एंबुलेंस मदद के लिए कंट्रोल रूम नंबर 108 पर बार-बार फोन कर रहे थे, मगर उनका नंबर नहीं लगा रहा था. फोन करने पर या तो उनका फोन अपने आप कट रहा था या फिर उन्हें ऑटो जनरेटिड मैसेज मिल रहा था जिसमें कहा 'इस रूट की सभी लाइन व्यस्त हैं.



उन्होंने बताया कि स्वामी नगर निवासी एक युवक को आज अचानक खून की उल्टियां आने लगी उसकी हालत देखकर उन्होंने एंबुलेंस सर्विस नंबर पर फोन किया मगर उनका फोन नहीं लगा. थकहार कर वे एक ऑटो की मदद से वे उसे नागरिक अस्पताल ले आए. अस्पताल में चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.
आरोप है कि अगर एंबुलेंस उन्हें समय पर मिल जाती तो शायद एक गरीब की जान बच सकती थी. बतां दे कि पिछले कई दिनों से एंबुलेंस सर्विस केंद्र का आपातकालीन फोन नंबर में तकनीकी खराबी आई हुई है जिस कारण बीएसएनएल को छोड़कर किसी भी नेटवर्क से उसपर नंबर नहीं लग रहा है. आपातकालीन सर्विस होने के बावजूद स्वास्थ्य प्रशासन ने इस ओर कोई ठोस कदम उठाने की जहमत नहीं उठाई और विभाग की इस लापरवाही के कारण एक युवक को अपनी जान गंवानी पड़ी.
ये भी पढ़ें- 

उधार के पैसे वापस मांगने गए किसान पर वकील ने ईंट से किया हमला, देखें वीडियो

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज