लाइव टीवी

फतेहाबाद में 2 जिला पार्षदों समेत 5 लोग लाखों की रिश्वत लेते गिरफ्तार
Fatehabad News in Hindi

Jaspal Singh | News18 Haryana
Updated: December 11, 2018, 11:16 AM IST
फतेहाबाद में 2 जिला पार्षदों समेत 5 लोग लाखों की रिश्वत लेते गिरफ्तार
गिरफ्त में आरोपी

फतेहाबाद के जिला पार्षद सुरजीत सिंह और मंदीप कौर ने गीता रानी की कुर्सी बचाने के लिए सौदेबाजी की. इस पर उनको सोमवार को हिसार में बुलाया गया और उन समेत पांच लोगों को साढ़े तीन लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए पकड़ा

  • Share this:
हिसार विजिलेंस की टीम ने बस अड्डे और मिर्जापुर चौक के एक होटल पर छापा मारकर फतेहाबाद के दो जिला पार्षदों समेत पांच लोगों को 3.50 लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए पकड़ा है. ये फतेहाबाद जिला परिषद चेयरपर्सन गीता रानी की कुर्सी बचाने के लिए रिश्वत ले रहे थे. गीता रानी के खिलाफ बुधवार को अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग होनी थी.

फतेहाबाद के गांव नागली निवासी कृष्णचंद ने विजिलेंस को शिकायत देकर कहा कि उनकी पत्नी गीता रानी फतेहाबाद जिला परिषद की चेयरपर्सन है. कुछ पार्षदों ने प्रशासन को उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की एप्लीकेशन दी थी. प्रशासन ने इस पर वोटिंग के लिए 12 दिसंबर की तारीख तय की थी.

नशे में धुत पुलिसकर्मी 'बुलेट' बाइक से कई बार गिरा, VIDEO वायरल



फतेहाबाद के जिला पार्षद सुरजीत सिंह और मंदीप कौर ने गीता रानी की कुर्सी बचाने के लिए सौदेबाजी की. इस पर उनको सोमवार को हिसार में बुलाया गया और उन समेत पांच लोगों को साढ़े तीन लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए पकड़ा. विजिलेंस ने शिकायत मिलने पर डीएसपी सुभाष चंद्र, एसआइ धर्मबीर दहिया, एएसआइ मनमोहन सिंह, इएएसआइ रमेश चंद्र और इएचसी धर्मबीर की टीम गठित की.



मंदीप कौर और पति 1 लाख समेत काबू

विजिलेंस टीम के अनुसार बस स्टैंड के पास 3. 30 बजे मुस्तैद हो गई, तभी वहां एक कार आई. कृष्णचंद्र ने कार रुकने पर मंदीप कौर और उसके पति टीटीराम को 1 लाख रुपये थमाए. टीम ने वहां इशारा पाकर दंपति को दबोच लिया और उनसे 500 के 200 नोट बरामद किए. विजिलेंस दोनों को हिरासत में लेकर विजिलेंस थाने रवाना हो गई.

पार्षद सुरजीत समेत तीन होटल में पकड़े

विजिलेंस की टीम बस स्टैंड पर छापेमारी के बाद 4 बजे मिर्जापुर रोड के एक होटल पर पहुंची. कृष्णचंद्र अंदर गया और टीम के सदस्य पीछे रह गए. कृष्णचंद्र ने वहां जिला पार्षद सुरजीत को ढाई लाख रुपये दिए तो विजिलेंस ने उनको पकड़ लिया. सुरजीत के अलावा महेंद्र निवासी मताना और महेंद्र निवासी जांडवाला सोतर शामिल थे. वे बोलेरो में आए थे. मताना के महेंद्र ने खुद को पार्षद कमला भुक्कर का मामा बताया. वह बोला मैं कमला के रुपये लेने आया था. विजिलेंस ने पांचों के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत केस दर्ज किया है. विजिलेंस का कहना है कि महेंद्र कमला के कहने पर रुपये लेने आया था या अपने स्तर यह जांच की जाएगी.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फतेहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2018, 11:11 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading