लाइव टीवी

बच्चे के इलाज के लिए दी रकम हड़पने पर फंसा फर्जी पत्रकार, केस दर्ज

News18 Haryana
Updated: December 12, 2019, 3:07 PM IST
बच्चे के इलाज के लिए दी रकम हड़पने पर फंसा फर्जी पत्रकार, केस दर्ज
फर्जी पत्रकार पर केस दर्ज

शिकायतकर्ता का आरोप है कि आरोपी को उसने अपने बेटे के इलाज (Treatment) के लिए 2.5 लाख रूपए की रकम पुणे पहुंचाने के लिए दी थी, जिसे उसने परिवार (Family) तक पहुंचाने की बजाय खुद हड़प ली.

  • Share this:
फतेहाबाद. स्थानीय एमसी कॉलोनी निवासी एक व्यक्ति की शिकायत पर शहर थाना पुलिस (Police) ने सुंदर नगर निवासी सुरेन्द्र आहुजा पर भादंस की धारा 406, 506 के तहत केस दर्ज (Case Registered) किया है. शिकायतकर्ता का आरोप है कि आरोपी को उसने अपने बेटे के इलाज के लिए 2.5 लाख रूपए की रकम पुणे पहुंचाने के लिए दी थी, जिसे उसने परिवार तक पहुंचाने की बजाय खुद हड़प ली.

इसके बाद उसने जब अपनी रकम उससे मांगी तो आरोपी सुरेन्द्र आहुजा ने उसे पत्रकार होने की धौंस दिखाते हुए जान से मारने की धमकियां तक दी. इस मामले की गंभीरता को देखते हुए शहर थाना पुलिस ने गत देर शाम ही उपरोक्त धाराओं के तहत केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी है. समाचार लिखे जाने तक आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी थी.

पुलिस को दी शिकायत में एमसी कालोनी निवासी अंकित मल ने बताया कि उसका पांच वर्षीय बेटा रेहान थैलीसीमिया से पीडि़त है, जिसका इलाज लंबे समय से चंडीगढ़ और पुणे के एक बड़े अस्पतालों में चल रहा है. इस इलाज के दौरान उसके बेटे को प्रति माह रक्त चढ़वाने की जरूरत पड़ती है. बेटे का इलाज बहुत मंहगा है, जिसके चलते उसे अक्सर बड़ी रकम का प्रबंधन करने का दबाव रहता है. उसने बताया कि इसी साल जनवरी माह में उसकी पत्नी और बेटा चेकअप के लिए चंडीगढ़ गए हुए थे तो वहां उसके बेटे की तबीयत ज्यादा खराब हो गई, जिसके चलते उसे तुरंत पुणे के अस्पताल ले जाना पड़ा.

पुणे में चल रहा बेटे का इलाज

पुणे में इलाज के लिए करीब 3 लाख रूपए की रकम तुरंत जमा करवानी थी. शिकायतकर्ता का आरोप है कि आरोपी सुरेन्द्र आहुजा पिछले कुछ समय से जीरकपुर में उसके मामा के घर के नजदीक ही रह रहा है. जाट धर्मशाला स्थित एक कार्यालय में सुरेन्द्र आहुजा ने शिकायतकर्ता को कहा कि वह यह रकम उसके मामा तक चंडीगढ़ पहुंचा देगा, जहां से उसके मामा ने रकम लेकर पुणे जाना था.

रकम लेकर आगे नहीं पहुंचाई

सुरेन्द्र आहुजा पर विश्वास करके अपने बेटे के इलाज की जल्दी में उसने अढाई लाख रूपए उसे दे दिए. आरोप है कि सुरेन्द्र आहुजा ने यह रकम ले तो ली, लेकिन उसके बेटे के इलाज के लिए उसके मामा तक पहुंचाई नहीं. इस मामले में लंबी जांच-पड़ताल के बाद पुलिस ने गत देर शाम सुरेन्द्र आहुजा पर केस दर्ज किया है.ठगी के कई मामले विभिन्न थानों में ही विचाराधीन

शिकायतकर्ता अंकित मल ने बताया कि आरोपी सुरेन्द्र आहुजा फेसबुक पर स्वंय के नाम से और खरी-कहूं नाम आईडी बनाकर सामाजिक, राजनीतिक लोगों को ब्लैकमेल करने के लिए तरह-तरह की पोस्ट डालता रहता है. इनमें कई लोग पहले शहर थाना व अन्य कई थानो में आरोपी के खिलाफ शिकायत दे चुके है, जो मामले अभी भी पुलिस प्रशासन की फाइलों में विचाराधीन है. आरोप है कि आरोपी किसी भी रजिस्टर्ड समाचार पत्र या चैनल से नहीं जुड़ा हुआ है, लेकिन फर्जी पत्रकार बनकर लगातार लोगों से इस तरह की ठगी करता रहता है. शिकायकर्ता ने इस मामले में ठोस कार्रवाई की मांग करते हुए अपने बेटे के इलाज के लिए दी गई रकम वापस दिलाने की मांग की है.

ये भी पढ़ें- शर्मनाक: कम नंबर आए तो प्रिंसिपल ने बच्‍ची का मुंह काला कर स्‍कूल में घुमाया

पानीपत में पिता के रिवॉल्वर से 12वीं के छात्र ने खुद को मारी गोली, मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फतेहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 3:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर