लाइव टीवी

भाजपा विधायक के सामने भिड़े नगर परिषद के प्रधान से पार्षद, जमकर हुई तू-तड़ाक

Jaspal Singh | News18 Haryana
Updated: November 19, 2019, 3:44 PM IST
भाजपा विधायक के सामने भिड़े नगर परिषद के प्रधान से पार्षद, जमकर हुई तू-तड़ाक
फतेहाबाद में नगर परिषद के प्रधान से भिड़े पार्षद

विधायक दुड़ाराम के सामने ही प्रधान और जाखड़ काफी देर तक भिड़ते रहे. दोनों में बढ़ती तलखी को देखते हुए पार्षद राकेश गंभीर ने वजीर जाखड़ को शांत करके उनकी सीट पर बैठाया.

  • Share this:
फतेहाबाद. नगर परिषद की साधारण मीटिंग में मंगलवार को भ्रष्टाचार (Corruption) के मुद्दे को लेकर पार्षद वजीर जाखड़ और नगर परिषद (City Council) के प्रधान (President) दर्शन नागपाल के बीच तीखी नोकझोक हो गई. दोनों ने एक दूसरे पर गंभीर आरोप लगाने शुरू कर दिए और दोनों में तलखी बढ़ गई.

विधायक दुड़ाराम के सामने ही प्रधान और जाखड़ काफी देर तक भिड़ते रहे. दोनों में बढ़ती तलखी को देखते हुए पार्षद राकेश गंभीर ने वजीर जाखड़ को शांत करके उनकी सीट पर बैठाया. इस मीटिंग में 12 एजेंडे रखे गए, जिनको पास कर दिया गया. मीटिंग में पार्षदों ने विकास कार्यों ने भेदभाव के भी आरोप लगाए.

बता दें कि नगर परिषद कार्यालय में प्रधान दर्शन नागपाल की अध्यक्षता में हुई. इस मीटिंग में विशेष रुप से विधायक दुड़ाराम ने भी भाग लिया. मीटिंग में एक पार्षद भारती रानी उर्फ रेखा के अलावा सभी पार्षदों ने भाग लिया. मीटिंग में अन्य लोग भी उपस्थित थे, जिससे यह मीटिंग कम और जनता दरबार अधिक दिखाई दी.

भेदभाव के आऱोप लगाए

मीटिंग में जब समान रूप से विकास के लिए कार्यकारी अभियंता से सभी पार्षदों से लिखित में उनकी डिमांड देने को कहा तो, नगर परिषद प्रधान दर्शन नागपाल ने कहा, कि यह काम हम देखेंगे. इस पर पार्षद प्रतिनिधि दीपू टूटेजा, विनय शर्मा, पार्षद वजीर जाखड़ व महेश कक्कड़ ने रोष जताना शुरू कर दिया व विकास कार्यों में भेदभाव के आरोप लगाए. एक महिला पार्षद ने आरोप लगाया कि पिछले तीन सालों में उनको सिर्फ 6 बैंच दिए गए हैं.

भ्रष्टाचार के आरोप लगे

वजीर जाखड़ ने आरोप लगाया कि पिछली मीटिंग में घटिया इंटरलॉकिंग ईंटों की जांच की बात की गई थी, लेकिन अभी तक ऐसा नहीं हुआ है. इस मामले में प्रधान अपना स्पष्टिकरण दें. जाखड़ ने ये भी कहा कि कई ठेकेदारों को टेंडर तो दे दिया जाता है, लेकिन उसके पास काम करवाने की प्रर्याप्त राशि नहीं होती, जिस कारण वह आधा काम करके छोड़ देता है और बिल पास होने पर ही आगे का काम करने की बात कहता है.
Loading...

ऐसे ठेकेदारों की बैंक स्टेटमेंट लेकर पूरी राशि देखी जाए, ताकि समय पर काम हो सकें. इस पर जब नागपाल ने वजीर जाखड़ को बैठाने का प्रयास किया तो बात बढ़ गई. वजीर जाखड़ पर नागपाल भी गर्म हो गए और उनपर पिछले प्लानों में भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए कह दिया कि प्रहलाद सिंह के कार्यकाल में गड्ढ़े तुम लोगों ने खोदे थे, जिनको भरना पड़ रहा है. इस पर वजीर जाखड़ ने कहा कि कमेटी का कोई भी सदस्य कह दे कि उन्होंने भ्रष्टाचार फैलाया है. मेरे ऊपर तो प्रधान से भी 5 लाख रुपये लेने के आरोप लगे थे, लेकिन इसका स्पष्टीकरण भी उन्होंने दे दिया था.

उन पर लांछन लगाने की आवश्यकता नहीं है, जिससे मामला बढ़ गया. मीटिंग में वजीर जाखड़ व किरण नारंग ने प्रोपर्टी आईडी बंद करने की मांग की. उन्होंनें कहा कि अन्य जिलों में जब प्रोपर्टी आईडी का कोई मसला नहीं है तो यहां पर क्यों है. इस पर विधायक ने कहा कि वह इस मामले में अधिकारियों से बात करेंगे. जब मीटिंग को एमई संबोधित कर रहे थे तो पार्षद वजीर जाखड़ ने कहा कि हम तक आवाज नहीं पहुंच रही है, वह कई बार माइकों की डिमांड कर चुके हैं, लेकिन ऐसा नहीं हो रहा.

इस पर विधायक ने कहा कि अगली बार माइक लगवा दिए जाएंगे. पार्षद रणजीत ओड ने नगर परिषद में कमीशनखोरी व भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाया. महेश मक्कड़ व अन्य पार्षदों ने सफाई का मुद्दा उठाया, जिस पर कार्यकारी अभियंता ने कहा कि इस मामले में 28 नवंबर को टेंडर जारी कर दिया जाएगा, इसके बाद सफाई कर्मचारियों की कमी नहीं आएगी.

यह भी पढ़ें- वादे के पक्‍के निकले बीरेंद्र सिंह, राज्‍यसभा से दिया इस्तीफा, चुनावी राजनीति से संन्‍यास का भी ऐलान

यह भी पढ़ें- पानीपत में सड़क हादसे में 2 बुजुर्गों की मौत, 10 घायल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फतेहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 19, 2019, 3:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...