लाइव टीवी

टिड्डी दल को लेकर हरियाणा के जिले हाई अलर्ट पर, कभी भी हो सकता है हमला
Fatehabad News in Hindi

Jaspal Singh | News18 Haryana
Updated: February 6, 2020, 12:26 PM IST
टिड्डी दल को लेकर हरियाणा के जिले हाई अलर्ट पर, कभी भी हो सकता है हमला
टिड्डी दल के फसलों पर बैठने से नुकसान होता है.

पाकिस्तान (Pakistan) से चला टिड्डी दल (Locust) राजस्थान और पंजाब में तबाही मचाने के बाद अब किसी भी वक्त हरियाणा (Haryana) में प्रवेश कर सकता है. इसी के चलते राजस्थान से सटे हरियाणा के 5-6 जिलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है. फतेहाबाद (Fatehabad) जिला प्रशासन ने टिड्डी दल से निपटने के लिए तैयारियां भी शुरू कर दी है.

  • Share this:
फतेहाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) से चला टिड्डी दल राजस्थान और पंजाब में तबाही मचाने के बाद अब किसी भी वक्त हरियाणा (Haryana) में प्रवेश कर सकता है. इसी के चलते राजस्थान से सटे हरियाणा के 5-6 जिलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है. जिला प्रशासन ने टिड्डी दल से निपटने के लिए तैयारियां भी शुरू कर दी है. फतेहाबाद (Fatehabad) के डीसी ने इस संबंध में अधिकारियों की एक बैठक ली. उन्होंने राजस्व, कृषि एवं किसान विभाग व पंचायती राज विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे टिड्डी दल के बारे में किसानों को जागरूक करें (Making farmers aware) कि टिड्डी दल के प्रकोप के बचाव के लिए किस प्रकार से काम किया जा सकता है. डीसी ने बताया कि पंजाब के फाजिल्का इलाके में असर दर्ज हुआ. चूंकि फाजिल्का फतेहाबाद से महज 200 किलोमीटर ही दूर है और टिड्डियों के उडऩे की स्पीड करीब 15 किलोमीटर प्रति घंटे की होती है, इसलिए कभी भी टिड्डियों का हमला (Locust Attack) हो सकता है. हालांकि हमले की आशंका कम है, मगर प्रशासन अपनी तैयारियां कर रहा है.

टिड्डी दल को लेकर जागरूकता फैलाएं

उपायुक्त ने टिड्डी दल के प्रकोप से बचाव के लिए आवश्यक कदम उठाने के निर्देश जारी करते हुए जिला में चार स्तरीय कमेटी का गठन किया है. उपायुक्त ने बताया कि ग्राम स्तर पर गठित कमेटी में राजस्व पटवारी, ग्राम सचिव, सरपंच, नंबरदार व कृषि विकास अधिकारी शामिल किए गए हैं. तहसील स्तरीय कमेटी में सीआरओ राजस्व विभाग के अधिकारी, ब्लॉक स्तरीय कमेटी में बीडीपीओ, एसपीओ, कृषि विभाग के एसएमएस, एसडीओ तथा जिला स्तरीय कमेटी में संबंधित एसडीएम नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं. उपायुक्त ने गठित कमेटी सदस्यों को निर्देश दिए है कि वे लोगों को टिड्डी दल के बारे में जागरूक करें.

फतेहाबाद के उपायुक्त ने हैफेड को निर्देश दिए कि वे सभी ब्लॉक में टिड्डी दल पर काबू पाने वाले कीटनाशक भंडारण का समुचित व्यवस्था करके रखें. 


मंदिरों, गुरुद्वारों और मस्जिदों से घोषणा करवाएं

उपायुक्त ने कहा कि गांव के मंदिरों, गुरुद्वारों और मस्जिदों से घोषणाएं करवाएं. इसके अलावा गांव के मौन चौक पर किसानों को इकट्ठा करके टिड्डी दल का प्रकोप होने पर किए जाने वाले प्रबंधों के बारे में जागरूक करें. उपायुक्त ने हैफेड को निर्देश दिए कि वे सभी ब्लॉक में टिड्डी दल पर काबू पाने वाले कीटनाशक भंडारण का समुचित व्यवस्था करके रखें. इसके अलावा उन्होंने कृषि विभाग से कहा है कि जिन किसानों के पास स्प्रे ड्रम्प पम्प हैं, उनकी सूची तैयार करें और आपदा के समय उनको प्रयोग में लाया जाए.

टिड्डी दल दिखने पर बजाएं ढोल नगाड़ाउपायुक्त ने बताया कि टिड्डी एक बहुभक्षी एवं अंतर्राष्ट्रीय कीट है, जो प्राय: सभी प्रकार की वनस्पति को खाकर नुकसान पहुंचाती है. टिड्डी दल रात को फसल पर बैठती है, जिससे फसलों को नुकसान पहुंचता है. उन्होंने किसानों से कहा कि वे टिड्डी दल को लेकर अपनी फसल की निगरानी करें. खेत में टिड्डी दल दिखाई देने पर किसान डीजे, थाली, ढोल, नगाड़े व खाली पीपों की आवाज करके टिड्डी दल को बैठने से रोक सकता है. साथ ही कीटनाशकों के प्रयोग द्वारा भी इस पर काबू पाया जा सकता है. उन्होंने किसानों से अपील करते हुए कहा कि अगर कहीं भी टिड्डी दल देखने व होने की सूचना प्राप्त होती है तो वे तुरंत कृषि विभाग के अधिकारियों को सूचित करें. उपायुक्त ने कहा कि जिला स्तर पर टिड्डी दल नियंत्रण कक्ष बनाया गया है, जिसका दूरभाष नंबर 01667-231122 है.

ये भी पढ़ें - उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को ‘Z’ सुरक्षा, मिली थी जान से मारने की धमकी

ये भी पढ़ें - शिक्षक की भूमिका में ग्रुप डी कर्मी, बच्चों को पढ़ा रहे गणित और विज्ञान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फतेहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 6, 2020, 12:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर